पाकिस्तान ने लगाया भारत पर उसके नागरिको को मारने का आरोप ,घर में घुसकर मारने वाले ब्यान पर अमेरिका ने दिया ये रिएक्शन

Saroj kanwar
3 Min Read

आतंकवादी के खिलाफ मोदी सरकार की ‘नो टोलरेंस पॉलिसी ‘से पाकिस्तान पूरी तरह बोखला उठा है । दरअसल भारत अब ना सिर्फ अपने देश में आतंकियों का सफाया कर रहा है बल्कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में बैठे आतंकियों का भी सफाई करने में जुटा हुआ है। कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि आतंकियों को उनके घर में घुसकर मारने से नहीं हिचकिचाएंगे।

पाकिस्तान में कई आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया गया

वहीं पिछले कुछ दिनों के भीतर पाकिस्तान में कई आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया गया। हालांकि आतंकियों की हत्या किसने की इस बात की जानकारी पाकिस्तान सरकार के पास नहीं है । पाकिस्तानी आरोप लगाया है कि भारत की खुफिया एजेंसी यानी RAW के एजेंट पाकिस्तान की धरती पर आतंकियों को निशाना बना रहे हैं। पाकिस्तान के जरिए लगाए जा रहे इस आरोप पर अमेरिका ने भी प्रतिक्रिया दी है।

आरोपों पर अमेरिका ने भी प्रतिक्रिया दी है

पाकिस्तान के जरिए लगाए जा रहे आरोपों पर अमेरिका ने भी प्रतिक्रिया दी है। हालांकि अमेरिका ने जो कहा ,पड़ोसी मुल्क को पसंद नहीं आया । घर में घुसकर मारेंगे वाले बयान पर अमेरिकी विदेशी विभाग के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने कहा , जैसा कि मैंने पहले कहा है कि अमेरिका पाकिस्तान और भारत के बीच में नहीं आने वाला है।

दोनों देश बातचीत के जरिये मुद्दा सुलझाएं। जब मिलर से पूछा कि खालिस्तानी आतंकवादी गुरपतवंत सिंह पन्नून की कथित हत्या की साजिश को लेकर अमेरिका ने भारत पर को प्रतिबंध क्यों नहीं लगाया है तो मिलर ने कहा मैं कभी भी किसी भी प्रतिबंध की कार्रवाई का पूर्वालोकन नहीं करने जा रहा हूं। अमेरिका प्रतिबंधों के बारे में खुलकर चर्चा नहीं करता है।

पाकिस्तान के आरोपों को बेबुनियस करार दिया है

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ,पाकिस्तान के नागरिकों को मनमानी ढंग से आतंकवाद करार देना और सजा देने का दावा ये साबित करता है कि वह दोषी है। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय समुदाय के लिए जरूरी है कि भारत को उसकी गैरकानूनी गतिविधियों के लिए जिम्मेदार ठहराए। गौरतलब है की भारत सरकार ने द गार्जियन में छपी रिपोर्ट और पाकिस्तान के आरोपों को बेबुनियस करार दिया है।

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *