Movie prime
चावल की बुआई को सिम्पल और सस्ती बनाने के लिए सरकार दे रही है इस यंत्र पर तगड़ी सब्सिडी
 

केंद्र और राज्य सरकार की ओर से किसानों के लिए कई प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है इसके तहत किसानों को सब्सिडी भी दी जाती है  यह सब्सिडी अलग अलग राज्य में वहां की राज्य सरकारों के नियमों के अनुसार दी जाती है सब्सिडी पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने के पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य छोटे और सीमांत किसानों को लाभ पहुंचाना है जो अपने कमजोर आर्थिक स्थिति की वजह से महंगे कृषि यंत्र नहीं खरीद पाते हैं इसी क्रम में मध्य प्रदेश सरकार की ओर से कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत किसानों को 50 परसेंट तक सब्सिडी का लाभ दिया जाता है। 

इस समय प्रदेश में धान की रोपाई का काम जोरों पर है इसे देखते हुए राज्य के कृषि अभियांत्रिकी विभाग ने किसानों को पैड़ी राइस ट्रांसप्लांटर मशीन के लिए किसानों से आवेदन आमंत्रित किए हैं इससे किसान इसमें आवेदन करके सब्सिडी पर पैड़ी (राइस )ट्रांसप्लांटर मशीन ले सकते हैं आज हम आपको बताते हैं कि कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत पर डिवाइस ट्रांसफर मशीन पर सब्सिडी के लिए आवेदन के लिए कौनसी आवेदन प्रक्रिया जरूरी है पैड़ी  राइस ट्रांसप्लांटर मशीन की सहायता से किसान धान की पौध की रोपाई कम समय और कम श्रम कर सकते हैं इससे के क्षेत्र में करीब 2 घंटे की कम समय में बुवाई का काम किया जा सकता है। 

यह मशीन कई प्रकारों में आती है इसे 4 ,6 ,8 कतारों में धान की रोपाई होती है इस मशीन से बुवाई करने की खासियत यह है कि इसमें कतार में बुआई होती है जिससे पौधे निश्चित दूरी पर कतार से सीधे खड़े रहते हैं इससे निंदाई, गुड़ाई एवं कटाई आदि के काम में आसानी होती हैं वहीं खेती की लागत में कमी आती है जिससे पैसों की बचत होती है। 

 मध्य प्रदेश कृषि अभियांत्रिकी संचनालय के अनुसार पैडी ट्रांसप्लांटर यंत्र को मांग के अनुसार श्रेणी में रखा है इसके तहत प्राप्त किए किसानों के आवेदन के लिए लॉटरी नहीं निकाली जाएगी तथा उपलब्ध बजट के आधार पर  इसे आवेदनों  को अनुमोदित किया जाएगा अनुमोदित होने पर किसानों का आवेदन पोर्टल पर चयनित किसानों की सूची में प्रदर्शित किया जाएगा अनुमोदन की सूचना किसान को एसएमएस के माध्यम से दे दी जाएगी मध्य प्रदेश कृषि अभियांत्रिकी संचालन की ओर से राज्य के किसानों को कृषि यंत्रों पर 40 से लेकर 50% तक सब्सिडी का लाभ दिया जाता है इसमें अनुसूचित जाति ,अनुसूचित जनजाति सहित महिला किसानों को विशेष लाभ दिया जाता है इसके  तहत उन्हें  50% सब्सिडी का लाभ मिलता है जबकि सामान्य वर्ग के किसानों को 40% सब्सिडी का लाभ दिया जाता है। 

 राज्य के किसान ई-कृषि यंत्र अनुदान पोर्टल https://dbt.mpdage.org/ पर जाकर इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। बता दें कि इन आवेदनों में डीलर चयन तथा आगे की समस्त प्रक्रियाएं तथा समयावधि, लॉटरी उपरांत चयनित कृषकों की प्रक्रिया के सामान ही रहेगी।