Movie prime
subsidy on diesel :डीजल पर ये सरकार दे रही है तगड़ी सब्सिडी ,ऐसे उठा सकते है लाभ
 


मानसून की शुरुआत हो गई है लेकिन इस बार मानसून कुछ राज्य में सक्रिय हो पाया  है जबकि कुछ राज्य में अभी भी मानसून की सक्रियता नहीं हो पाई है ऐसे में जिन राज्यों में बारिश नहीं होने की वजह से खरीफ की बुवाई में कमी आ रही है अभी तक इन क्षेत्रों मेंखरीफ की आधी बुआई भी भी नहीं हो पाई है इस समय  बिहार और उत्तर प्रदेश राज्य सूखे की स्थिति का सामना कर रहे हैं। 

ऐसे बिहार सरकार ने किसानों के हित में किसानों को डीजल पर सब्सिडी देने का फैसला किया है इससे किसानों को फसलों की सिंचाई करने में सुविधाओं के साथ लागत में भी कमी आएगी बिहार कृषि मंत्री अमरेंद्र प्रताप सिंह ने बिहार में अनियमित मानसून की स्थिति  की  संभावना से निपटने के लिए बैठक की है बैठक में उन्होंने बताया कि 11 जुलाई 2022 तक राज्य में सामान्य से 33% तक कम वर्षा हुई है जिससे बिहार में सूखे की स्थिति बन गई है। 

किसानों को सूखे की स्थिति से बचाने के लिए और उन्हें किसानों को बिना रुकावट के बिजली प्राप्त कराने के साथ ही किसानों को सिंचाई के लिए डीजल अनुदान एवं अन्य विकल्पों के बीज पर शत-प्रतिशत अनुदान दिए जाने की बात कही जा रही है ताकि किसान सूखे की स्थिति में अपनी फसलों की सिंचाई कर सके इसके लिए बिहार सरकार ने डीजल की खरीद पर भी अनुदान देने का फैसला किया है इसके लिए राज्य सरकार की ओर से फसलों की सिंचाई की के आधार पर डीजल पर अनुदान दिए जाने का फैसला किया गया है इसके लिए सरकार ने फसल वार  डीजल पर सब्सिडी राशि तय की है जो इस प्रकार से है। 
किसानों को धान का बिचड़ा एवं जूट की दो सिंचाई के लिए 60 रुपए प्रति लीटर की दर से अनुदान दिया जाएगा। अनुमानित 10 लीटर डीजल खरीद के लिए 600 रुपए प्रति सिंचाई अर्थात दो सिंचाई के लिए 1200 रुपए तक अनुदान देय होगा
वहीं दलहन, तिलहन फसलों, मौसमी सब्जियों, औषधीय एवं सुगंधित पौधों की 3 सिंचाई के लिए 600 रुपए प्रति सिंचाई की दर से 1800 रुपए अनुदान दिया जाएगा  इसके लिए डीजल अनुदान योजना की स्वीकृति की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है  बिहार राज्य के जो किसान डीजल पर सब्सिडी के लिए पात्रता रखते हैं, इसकी आफिशियल वेबसाइट https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर जाकर ऑनलाइन आवेदन करना होगा।