Movie prime
सोलर पम्प लगाकर कम करे घर की गर्मी और बिजली का बिल ,सरकार भी देगी तगड़ी सब्सिडी
 

देश में  बिजली की खपत के मुकाबले इसका उत्पादन नहीं होने की वजह से राज्य में बिजली संकट हमेशा  रहा है रहता है भीषण गर्मी और  शहर और गांव में एक से लेकर 5 घंटे तक बिजली कटौती की जाती है वही बिल भी भारी भरकम आता है इसमें से छुटकारा पाने के लिए अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवा सकते हैं इससे लाभ होगा कि बिजली का बिल आधा हो जाएगा और इससे आपके घर के तापमान में भी कमी आएगी क्योंकि छत पर सोलर पैनल लगने से सूर्य की ऊर्जा का अवशोषण सोलर पैनल कर लेगा जिससे भीषण गर्मी में भी आपके घर का तापमान अन्य  लोगों के घर के अपेक्षा में कम रहेगा। 

इतना ही नहीं यह सोलर पंप 20 सालों के   तक आपको फ्री में बिजली देगा क्योंकि सोलर पंप की मियाद 25 साल की होती है इससे पहले 5 वर्ष में आपने जो पैसा लगा है  वो वसूल  इसके बाद बचे 20 सालों में आपको फ्री मिलेगा लाभ मिलता रहेगा ऐसे में आज हम आपको बताते हैं कि छत पर सोलर पैनल लगवाना कितना फायदे का सौदा है सोलर पंप लगवाने के बाद आप इसे कमाई भी कर सकते हैं यदि आपने अपनी जरूरत की बिजली के बाद अतिरिक्त बिजली को बनाते हैं तो आप इस ग्रिड को बेचकर पैसा कमा सकते हैं इसके लिए आपको पहले बिजली विभाग से संपर्क करके इसके बारे में बताना होगा इससे वो आपको पूरी जानकारी देंगे  अक्षय ऊर्जा  को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से कुसुम योजना का संचालन किया जा रहा है इसके तहत पूरे देश में सोलर रूफटॉप योजना चलाई जा रही है। 

इस योजना के तहत घर की छत पर सोलर पंप लगाए जा रहे हैं इसके लिए सरकार की ओर से सब्सिडी भी दी जाती है 65% तक सब्सिडी दी जाती  है इससे लोगों को सस्ती कीमत में सोलर पेनल  उपलब्ध हो रहे हैं आप जिस भी कंपनी के सोलर पैनल लगवा रहे हैं वह कंपनी सोलर पंप लगाने के बाद करीब 5 साल तक सोलर का रखरखाव करेगी और इसके लिए आपको भी रखरखाव पर कुछ भी पैसा खर्च नहीं करना होगा इससे आपके पैसे की बचत हो गीडिस्कॉम की ओर से घरों के लिए 1 किलो से लेकर 10 किलो वाट का सोलर पैनल लगाए जाती है आपके पास 5 किलो वाट का बिजली कनेक्शन है तो अभी 5 किलो वाट का सोलर पैनल लगवा सकते हैं आमतौर पर सोलर पैनल की एक प्लेट 400 वाट की आती है। 

 बता दें कि सोलर  लगवाने के लिए आपको अपने मीटर भी बदलवाने पड़ेगा जो डिस्कॉम द्वारा दिया जाएगा इसमें बिजली इंपोर्ट एक्सपोर्ट की सुविधा भी होगी इसे फायदा होगा की आप  जितनी  बिजली बनाओगे जितनी बिजली खर्च करोगे उसका लेखा-जोखा दर्ज   इसके बीच का जो अंतर आएगा उसी आधार पर आपका बिजली बिल दिया जाएगा। यानि आपने एक माह में 200 यूनिट बिजली खर्च की और 300 यूनिट बनाई तो इसके बीच का अंतर 100 यूनिट आपकी अतिरिक्त बिजली हुई तो आपको इस बिजली का पैसा डिस्कॉम उस दर पर देगा जिस दर पर आपको डिस्कॉम की ओर से बिजली दी जा रही है उसी दर इसे खरीदकर आपको पैसों का भुगतान कर देगा। माना डिस्कॉम 8 रुपए प्रति यूनिट की दर से आपको बिजली बिल दे रहा है तो इसी आठ रुपए की दर से ही आपसे डिस्कॉम बिजली खरीदेगा  यहां ये स्पष्ट कर देना जरूरी है कि इस मीटर में डिस्कॉम की जितनी बिजली आपने खर्च की है, उसी का ही बिल आएगा। 

 यदि आपने सोलर पैनल लगवा लेंगे इसके बाद भी आप डिस्कॉम की बिजली का उपयोग कर सकेंगे यदि आप अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवाना चाहते हैं तो इसके बारे में अधिक जानकारी  आधिकारिक वेबसाइट https://mnre.gov.in/पर जाकर ले सकते हैंइसके अलावा कुसुम योजना/सोलर पैनल योजना से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए आप अपने राज्य या जिले की विद्युत कंपनियों से संपर्क कर सकते हैं या आप ऑफिसियल वेबसाइट पर जारी किए गए हेल्पलाइन नंबर 1800-180-3333 पर संपर्क कर सकते हैं।