Movie prime
कपास खेती पर अब सरकार दे रही है इतने रूपये का सीधा अनुदान ,जल्दी करवाए रजिस्ट्रेशन
 

सरकार किसानों को प्रोत्साहन देने के लिए और उनको सहायता देने के लिए तरह-तरह पर कई योजनाएं निकालती रहती है सरकार की तरफ से किसानों को हर तरह से प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है ऐसे में हरियाणा सरकार ने देसी कपास की खेती करने वाले किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन राशि देने के ऐलान किया है राज्य में देसी कपास की खेती करने वाले किसानों को ₹3000 सब्सिडी प्रति एकड़ के हिसाब से दी जा रही है। 

सब्सिडी के माध्यम से हरियाणा सरकार राज्य में देसी कपास का उत्पादन बढ़ाने के प्रयास पर जोर दे रही है आपको बता दें कि पिछले सीजन राज्य में करीब 15 पॉइंट 90 एकड़ में कपास की खेती की गई थी सरकार ने इस खरीफ सीजन में 19 पॉइंट 25 एकड़ क्षेत्र में कपास की बुवाई का लक्ष्य रखा है इस कड़ी में देसी कपास की खेती करने वाले किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रति एकड़ कपास की बिजाई पर ₹3000 का अनुदान दे रही है आज हम आपको बताते हैं कि हरियाणा सरकार द्वारा दी जाने वाली राशि का लाभ किसान कैसे उठा सकते हैं। 

सरकार द्वारा किसानों को देसी कपास की फसल के लिए प्रोत्साहित करने के लिए प्रोत्साहन राशि दी जा रही है इसके अंतर्गत किसानों के खेत का सत्यापन उपरांत ₹3000 प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशि दी जाएगी इस प्रोत्साहन राशि का लाभ लेने वाले किसानों को देसी कपास की फसल का 'मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल' पर आगामी 31 जून 2022 तक रजिस्ट्रेशन करवाना होगा आपको बता दें कि राज्य सरकार ने देसी कपास पर सब्सिडी के लिए रजिस्ट्रेशन करने की लास्ट डेट 31 मई 2022 रखी थी लेकिन अब राज्य में कपास एवं लक्ष्य एवं किसानों की मांग को ध्यान में रखते हुए इस तारीख को और बढ़ा दिया है। 

 कृषि विशेषज्ञों के अनुसार अगर कपास की खेती परंपरागत तरीके की बजाय वैज्ञानिक तरीके से की जाए तो 20 से 25% तक अतिरिक्त पैदावार हो सकती है इसकी खेती करके किसान कम समय और कम लागत में बढ़िया खेती कर सकते हैं कपास एक व्यवसायिक  फसल है इसकी खेती नगदी फसल के रूप में होती है कपास खरीफ सीजन में उगाई जाने वाली नगदी फसल है कपास का मार्केट में काफी बड़े स्तर पर मांग है बाजार में कपास फसल से उत्पादित सभी पैदावार मांग अच्छी खासी होती है जिसकी वजह से इसकी बिजाई करने वालों किसानों को पहले ही खरीददार मिल जाते है। 

हरियाणा सरकार ने राज्य में देसी कपास का उत्पादन बढ़ाने का फैसला लिया है इसके लिए सरकार द्वारा देसी कपास की बिजाई करने पर किसानों को ₹3000 प्रति एकड़ का अनुदान दिया है पिछले सीजन में प्रदेश के करीब 15 पर 90 एकड़ में कपास की खेती की गई थी इस खरीफ सीजन में सरकार ने 19 पॉइंट 25 एकड़ क्षेत्र में कपास की बिजाई का लक्ष्य रखा है देसी कपास की निर्धारित किए गए लक्ष्य को हासिल करने के लिए कृषि विभाग ने 60 लाख पैकेट बीटी कपास के बीजों की व्यवस्था की है   अनुदान लेने के लिए किसानों को 'मेरी फसल मेरा ब्योरा 'पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा इसके लिए इसके आधिकारिक पोर्टल https://fasal.haryana.gov.in/ पर जाकर अगर आप रजिस्ट्रेशन खुद भी कर सकते हैं या रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के लिए अपने नजदीकी मित्र केंद्रीय ग्राहक सेवा केंद्र में भी जाकर कर सकते  हैं।