Movie prime
क्या सरकार थ्रेसर पर सब्सिडी देती है ,यहां जाने इसकी पूरी जानकारी
 

खेती-बाड़ी और बागवानी में आधुनिक कृषि यंत्रों का प्रयोग लगातार बढ़ रहा है कृषि यंत्रों की सहायता से कम समय और कम श्रम  में खेती का काम आसानी से पूरा किया जा सकता है अधिक से अधिक किसानों तक कृषि यंत्रों की पहुंच के लिए सरकार की ओर से कृषि यंत्रों की खरीद पर किसानों को सब्सिडी भी दी जाती है आप को थ्रेसर मशीन की जानकारी देते हैं। 

थ्रेसर मशीन ऐसी  कृषि मशीन है जो अनाज काटने का काम करती है इसकी सहायता से भूसी को डंठल से बीज निकालते है  यह सोयाबीन ,गेहू ,मटर, मक्का और अन्य छोटे अनाज  फसलों को बीज फसलों को उनके पुआल और भूसे से अलग करता है  इसे ट्रैक्टर के साथ जोडक़र चलाया जाता है ट्रैक्टर से चलने वाली थ्रेसर फसलों के अनुसार अलग-अलग होते हैं। 

जैसे की बहू फसलथ्रेसर  है यानी कि मल्टी क्रॉप थ्रेशर इसे मल्टी क्रॉप थ्रेशर कहते हैं  यह कई  प्रकार की होती है इस उपकरण की मदद से 20 से ज्यादा फसलों  के दानों को अलग कर सकती है यह मशीन के दाने और भूंसे  को अलग अलग करती है यह मशीन कम समय और कम लागत में फसल के दाने को अलग करती है मल्टीक्रॉप मशीन से गेहूं , सरसों, सोयाबीन ,और बाजरा ,मक्का ,जीरा, डालर चना ,चना ,देसी चना ,ग्वार ,मूंग ,मोठ इसबगोल ,जैसी फसलों के साफ सुथरे  से निकल जाते हैं। 

मक्का थ्रेसर :इस मशीन की सहायता से मक्का के दानों  को अलग  किया जाता है इसे कम समय में मक्का की गहाई का काम आसानी से हो जाता है। 

गेहूं थ्रेसर :इस मशीन से गेहूं की कटाई और  गहाई  का काम होता है इसलिए इससे गेहूं के दाने  और भूंसे को अलग किया जाता है। 

धान थ्रेसर :इस मशीन का उपयोग धान की कटाई के लिए उपयोग किया जाता है जहां धान की बुवाई व्यापक स्तर पर होती है वहां इस मशीन का उपयोग काफी बढ़ जाता है इस मशीन की सहायता से   धान से चावल को अलग किया जाता है । 

 वहीं  थ्रेसर की खरीद पर सरकार की ओर से किसानों को सब्सिडी मिलती है या नहीं तो बता दें कि सरकार की ओर से देश के किसानों को सभी प्रकार के कृषि उपकरण खरीदने पर 30 से लेकर 50% तक सब्सिडी मिलती है यह सबसे अलग अलग राज्य में वहां के नियमों के अनुसार दी जाती है बात करें मध्य प्रदेश की तैयारी की तो इसे  खरीदने के लिए राज्य सरकार की ओर से किसानों को 50% तक सब्सिडी दी जाती है ।