Movie prime
Pitru Paksh: पितृपक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे होते हैं खास, जानिए ‌कैसा होता है ऐसे बच्चो‌ का भाग्य और स्वभाव
 

पितृ पक्ष में पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इससे उनकी आत्मा को शांति मिलती है और वह अपने वंशजों को सुख-समृद्धि का आशीर्वाद देकर जाते हैं।पितृ पक्ष में पिंडदान,तर्पण और श्राद्ध पितरों को प्रसन्न करने के लिए परंपरा है। श्राद्ध पक्ष में कोई भी शुभ कार्य करना वर्जित है। शास्त्रों के अनुसार पितृ पक्ष के दौरान पैदा हुए बच्चों के बारे में कुछ खास बातें बताई गई हैं। आइए जानते हैं कैसा है पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चों का भाग्य और भविष्य।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार पितृ पक्ष में संतान का जन्म बहुत ही शुभ माना जाता है। ये बच्चे बहुत ही रचनात्मक होते हैं और अपनी कला के माध्यम से बहुत सम्मान  अर्जित करते हैं। श्राद्ध पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चों को पूर्वजों का विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है और वे अपने जीवन में बहुत प्रगति करते हैं। ये बच्चे अपने परिवार में ढेर सारी खुशियाँ और समृद्धि लाते हैं। ऐसा माना जाता है कि इन बच्चों का भाग्य परिवार के लिए अच्छे दिन लेकर आता है। ये बच्चे बहुत कम उम्र में जिम्मेदारी की भावना विकसित करते हैं।

ऐसा माना जाता है कि पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे अपने ही कुल के पूर्वज होते हैं। पूर्वजों के आशीर्वाद से इनका भविष्य बहुत उज्जवल होता है। पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे अपने परिवार से बहुत जुड़े होते हैं। ये बच्चे अपनी उम्र से ज्यादा होशियार होते हैं। पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चे कम उम्र में ही काफी ज्ञानी बन जाते हैं।

इसी कारण कहा जाता है कि पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चों की कीर्ति दूर-दूर तक फैलती है। हालांकि पितृ पक्ष में जन्म लेने वाले बच्चों की कुंडली में चंद्रमा की स्थिति कमजोर रहती है। लेकिन इसे अनेकों ज्योतिषीय उपायों से मजबूत भी किया जा सकता है।