Movie prime
ऋषभ पंत को अम्पायर के फैसले से आया गुस्सा तो टीम को बीच मैच से ही बुलाने का किया इशारा
 

 राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल के बीच आईपीएल 2022 के मुकाबला हुआ इस दौरान शुक्रवार को उस समय विवाद बढ़ गया जब ऋषभ पंत ने अपनी टीम की खिलाड़ियों को वापस बुलाने का इशारा कर दिया  पंत की टीम  दिल्ली कैपिटल्स वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में 15 रन से हार गई मैच के दौरान पंत  अंपायरिंग से खासा निराश थी कि उन्होंने मैच के बाद भी अंपायरिंग पर सवाल उठाए राजस्थान  ने  दिल्ली के सामने 223 रन का बड़ा लक्ष्य रखा लेकिन पंत की टीम 8 विकेट खोकर 207 रन ही बना सकी। 

ty

दिल्ली को आखिरी ओवर में जीत के लिए 36 रन चाहिए थे यानी हर गेंद पर छक्का रोमन पावेल क्रीज पर थे और ओबेड मैकॉय  को राजस्थान के कप्तान संजू सैमसन ने गेंद थमाई मैकॉय  की पहली गेंद पर छक्का जड़ दिया अगली गेंद पर छक्का लगाया तीसरी गेंद पर भी पावेल ने छक्का लगाया लेकिन तीसरी गेंद पर विवाद हो गया  दिल्ली टीम के खेमे का मानना था किअधिक ऊंचाई की वजह से नो बॉल  थी मैदानी अंपायर ने हालांकि इसे  नो बॉल करार नहीं दिया दिल्ली के कप्तान इसी पर लाल पीला हो गए और उन्होंने डगआउट से ही अपने खिलाड़ियों को वापस आने का इशारा कर दिया। 

yu

टीम के कोच प्रवीण आमरे भी उनकी तरफ से बोल रहे थे देखते ही देखते विवाद काफी बढ़ गया आमेर  मैदान में उतर गए और उन्होंने अंपायर से भी कुछ बात की लेकिन अम्पायर  नहीं माने और उन्होंने आमेर  को वापस जाने के लिए कहा फिर अगली गेंद पर कोई रन नहीं बना पांचवीं गेंद पर 2 रन मिले और अंतिम गेंद पर पावेल  कैच आउट हो गए  पावेल ने 15 गेंदों की अपनी पारी में पांच छक्कों की बदौलत 36 रन बनाए। 

पंत ने मैच के बाद कहा कि आखिरी ओवर उल्टा पुल्टा था मैं बस बेहतर की उम्मीद कर रहा था मुझे लगता है कि पूरे मैच के दौरान राजस्थान ने अच्छी  गेंदबाजी की लेकिन आखिर पावेल ने हमें मौका दिया मुझे लगा कि नो बॉल हमारे लिए कीमती हो सकती थी लेकिन यह मेरे नियंत्रण में नहीं है मैं निराश हूं लेकिन इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकता हर कोई निराश था  मैदान में सभी ने देखा ,मुझे लगता है कि थर्ड अंपायर को हस्तक्षेप करना चाहिए था और कहना चाहिए था कि यह नो बॉल  है जाहिर तौर पर यह सही नहीं था लेकिन हमारे साथ जो हुआ वह भी सही नहीं है।