Movie prime
हाईब्रीड कार और इलेक्ट्रिक कार में क्या है अंतर् ,यहां जाने क्या है आपके लिए फायदे का सौदा
 

पेट्रोल डीजल कार के बाद जब से मार्केट में दो  और ऑप्शन आये  हैं तब से लोगों के बीच काफी कंफ्यूजन है हाइब्रिड कार और इलेक्ट्रिक कार को लेकर एक बड़ा असमंजस लोगों के बीच देखने को मिल रहा है इन दोनों में क्या अंतर है और दोनों कैसे काम करती है और आखिर क्यों इनकी कीमत आम गाड़ियों के मुकाबले ज्यादा है ऐसे ही  कुछ सवाल लोगों के मन में है और इसी के चलते गाड़ियों में फर्क कर पाना लोगों के लिए मुश्किल है हालांकि यह फर्क करना जरूरी है क्योंकि दोनों में ही जमीन आसमान जितना फर्क है। 

haibreed

जब भी हाइब्रिड कारों की बात आती है तो कहा जाता है कि यह पेट्रोल या डीजल पर ही चलती है लेकिन ऐसा नहीं है ये कुछ हद तक इलेक्ट्रिक होती है  हालांकि पूरी तरह से इलेक्ट्रिक नहीं होती और इसमें इंजन होता है लेकिन सामान्य पेट्रोल या डीजल कार के मुकाबले हाइब्रिड कारों का माइलेज काफी अच्छा होता है हालांकि इनकी कीमत ज्यादा होती है लेकिन यह लंबे समय में फायदे का सौदा साबित हो सकती है हाइब्रिड कारों में सामान्य तौर पर डीजल या पेट्रोल इंजन होता है लेकिन रोटेटरी पावर के लिए बैटरी पैक के साथ ही मोटर भी होती है ऐसे में कार पूरी तरह से डीजल या पेट्रोल इंजन की पावर पर नहीं चलती इसे बैटरी मोटर से भी पावर मिलती है इसे अल्टरनेट इंजन एनर्जी सोर्स के तौर पर देखा जाता है इससे डीजल व पेट्रोल की खपत सामान्य के मुकाबले आधी हो जाती है। 

haib

इलेक्ट्रिक व्हीकल में कंबशन इंजन यानि डीजल या पेट्रोल इंजन नहीं होता है. इसमें किसी भी तरह के फ्यूल को बर्न करने से पावर नहीं मिलती है ये ट्रेडिशनल व्हीकल  से हटकर है इसमें जो मोटर काम करती ह वह आपके व्हील्स को रोटेट करती है इसमें बैटरी पैक  लगा है जो मोटर को पावर देता है इलेक्ट्रिक व्हीकल को चार्ज करने की जरूरत होती है लेकिन हाइब्रिड कार का बैटरी पर एक सामान्य कार बैटरी की तरह चार्ज होता है क्योंकि यह साइज में छोटा होता है इवी या हाइब्रिड कार सामान्य डीजल या पेट्रोल की कारों के मुकाबले अधिक महंगी होती है क्योंकि अभी तक कारों में आ रहे बैटरी प्रकार की कुल कीमत के 70% तक होते हैं लेकिन इस बात पर रिसर्च की जा रही है और इन बैटरी पैक्स को सस्ता व आसानी से चार्ज करने वाला बनाया जा रहा है।