Movie prime
अब शराबी का गाड़ी में बैठना नहीं होगा मुमकिन ,बैठते ही बजने लगेगा अलार्म
 

ड्रंकन और ड्राइविंग यानी शराब पीकर गाड़ी चलाना पूरी दुनिया भर में सड़क दुर्घटनाओं का एक प्रमुख कारण माना जाता है इसी वजह से हर साल हजारों लोगों की जान चली जाती है  यह ज्यादातरदेशो में गैरकानूनी है इस अपराध के लिए कड़ी सजा भी हो सकती है बावजूद इसके ड्रिंक एंड ड्राइविंग के मामले में कम नहीं हो रहे। 

shrab

लेकिन क्या अगर आपकी कार खुद आपको गाड़ी चलाने से रोक दें अमेरिका में एक ऐसी  टेक्नोलॉजी पर काम चल रहा है जिसमें शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर का पता लगाया जा सकता है इस टेक्नोलॉजी को अल्कोहल इंपेयरमेंट डिटेक्शन सिस्टम नाम दिया गया है इसे सीधे कारों में इंस्टॉल किया जाएगा शराब की मौजूदगी का पता लगाने वाले सिस्टम कई तरीकों से काम करता है इस सिस्टम के जरिए लगातार ड्राइवर के चेहरे पर निगरानी रखी जाती है यह सिस्टम ठीक उसी प्रकार काम करता है जैसे ड्राइवर को अलर्ट रखने के लिए ड्राइवर डिटेक्शन सिस्टम काम करता है। 

shrab

 अगर कोई ड्राइवर शराब पीकर गाड़ी चलाने के लिए बैठता है तो तुरंत एक अलार्म बजने लगता है हालांकि यह सिस्टम अभी पूरी तरह से तैयार नहीं हुआ है इस पर लगातार काम चल रहा है अमेरिका के राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड ने कार बनाने वाली कंपनियों से यह सेफ्टी फीचर सभी वाहनों में स्टैंडर्ड रूप से देने के लिए कहा है एनटीएसबी का मानना है कि इस तरह की मॉडर्न टेक्नोलॉजी से कई हादसों को रोका जा सकता है और इससे कई लोगों की जान भी बच सकती है आपके लिए अमेरिका में साल 2020 में नशे में गाड़ी चलाने की वजह से 11 हजार से ज्यादा मौतें हुई है भारत की बात करें तो यहां नशे में गाड़ी चलाने की वजह से लगभग हर साल 8300  लोगों की मौत हो जाती है देखने में आता है कि अक्सर शराब के नशे में ड्राइवर खुद पर कंट्रोल खो बैठता है इस दौरान वह गाड़ी को कंट्रोल नहीं कर पाता है।