Movie prime
कार में आने वाले इन लग्जरी फीचर्स दिखाकर कम्पनियाँ ले लेती है कस्टमर्स को झाँसे में ,रखे ध्यान
 

आजकल कार कंपनियां ग्राहकों को लुभाने के लिए कई तरह के फीचर्स  देती है ग्राहक भी टाइट बजट के बावजूद इन फीचर्स  की तरफ आकर्षित होकर कार तुरंत खरीद लेते हैं लेकिन जब वह इसका इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें लगता है कि यह फीचर उतने  काम के नहीं है जितना उन्होंने सोचा था बाद में उन्हें पछतावा होता है कि उन्होंने बेवजह ही इन फीचर्स पर इतने पैसे खर्च कर दिए आज हम आपको बताते हैं कि किन फीचर्स को आप नजरअंदाज कर सकते हैं। 

lukb

1 किलेश पुश बटन स्टार्ट:आजकल कार कंपनी कीलेस पुश बटन स्टार्ट को हाईलाइट करके बेचती  है बी सेगमेंट  की हैचबैक सेंगमेंट कारों में यह फीचर बहुत मिलता है पहले फीचर केवल टॉप वैरियंट के मॉडल्स में ही  देखने को मिलता था लोग इससे आकर्षित होकर कार खरीद लेते हैं लेकिन इस फीचर  का कोई फायदा नहीं होता है। 

lukb

2ऑटोमैटिक हेडलैंप्स: कार कंपनी आजकल ऑटोमेटिक हैंडलेप्स  की लग्जरी फीचर बताकर इसकी मार्केटिंग करती है वहीं कुछ ग्राहक इसके झांसे में आ जाते हैं और इस फीचर  वाले कार को खरीदने लेते हैं लेकिन अगर आप मैनुअली  भी कार की लाइट स्विच ऑन और स्विच ऑफ कर सकते हैं वहीं अगर कार में ही ये  फीचर आपको स्टेंडर्ड मिलता है तो बेहतर है लेकिन इस फीचर  के लिए अलग से खर्च करके इसे खरीदना समझदारी की बात नहीं है। 

lukb

 3 सनरूफ:एक समय था जब शेवरले ने अपनी ऑप्ट्रा कार में फीचर दिया था इसके बाद से कई कंपनियों ने इस फीचर  को देना शुरू कर दिया वहीं अब कंपनियों ने मिड लेवल हैचबैक सस्ती कारों में  भी इस फॉचर  देना शुरू कर दिया है भारत जैसे गर्म और नमि वाले देश में सनरूफ पर खर्च करना समझदारी नहीं है जिन लोगों के पास सनरूफ वाली कारें हैं खुद उनका अनुभव है कि इससे  कार में धूल आ जाती है। lukb

 4 टच सेंसटिविटी एसी कंट्रोल :यह फीचर जिसे कार कंपनियां गाड़ियां बेचते  समय लग्जरी फीचर  के नाम से प्रचारित करती है वहीं ड्राइविंग के दौरान हमारा मेन फोकस ड्राइविंग  है लेकिन कई इस फीचर की वजह से    कई बार हादसे भी करवा सकता है ऐसी की स्पीड को नोबल के  जरिए कंट्रोल किया जा सकता है और ड्राइविंग के दौरान यह करना आसान हो सकता है लेकिन टच सेंसटिविटी को दबाने के लिए फोकस करना पड़ता है।