Movie prime
भारत में ओमीक्रॉन के कारण तीसरी लहर का आना तय, इस महीने होगा कोविड सुपरमॉडल पर पीक
 

कोरोना वायरस के न्यू वेरिएंट ओमीक्रॉन का खतरा पूरी दुनिया के सिर मंडरा रहा है इस बीच नेशनल कोविड -19 सुपरमोडल का अनुमान लगाया जा रहा है अगले साल के फरवरी महीने में कोरोना पीक पर हो सकता है ओमीक्रॉन की वजह से भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आने की सम्भावना बताई जा रही है 

gh
डेल्टा वेरिएंट की जगह ले सकता है ओमीक्रॉन 
हर दिन भारत में कोरोना वायरस के 7 से 8 हजार केश सामने आ रहे है ये केश डेल्टा वेरिएंट के बताये जा रहजे है लेकिन जल्द ही इस वेरिएंट की जगह ओमीक्रॉन ले सकता है 
ओमीक्रॉन की तीसरी लहर की सम्भावना 
नेशनल कोविड-19 सुपरमॉडल कमेटी की हेड विद्यासागर ने बताया कि भारत में ओमीक्रॉन के कारण तीसरी लहर के आने की आशंका जताई जा रही है यह दूसरी लहर से कमजोर हो सकती है क्योकि भारत में ज्यादातर लोगो वेक्सीन लगने के कारण इम्युनिटी विकसित हो चुकी है हालंकि कोरोना की तीसरी लहर आना तय है 

nn
तीसरी लहर में प्रतिदिन आ सकते है ज्यादा केश 
हैदराबाद के प्रोफेसर है उन्होंने बताया कि दूसरी लहर के मुकाबले तीसरी लहर में ज्यादा मामले आने कि आशंका जताई जा रही है दरअसल फ्रंटलाइन वर्कर्स के अल्वा बाकि भारतीय नागरिको को 1 मार्च 2020 से टिका लगना शुरू हुआ था जब डेल्टा वैरियंट भारत में आया था तब भारत में लोगो को वेक्सीन नहीं लगी थी इसलिए अब कोरोना कि तीसरी लहर के मुकाबले तीसरी लहर से निपटना आसान हो गया है