Movie prime
इलेक्ट्रिक वाहन खरीदते समय इन बातो को ना करे इग्नोर ,उठाना पड़ सकता है भारी नुकशान
 

इलेक्ट्रिक कारों की दौड़ की शुरुआत हो चुकी है नई और पुरानी लगभग सभी कंपनी इलेक्ट्रिक वाहन पेश कर रही है वही कस्टमर्स भी  इलेक्ट्रिक वाहनों में  दिलचस्पी दिखाने लगी है इस समय ज्यादा एक्सपीरियंस ना होने की वजह से ज्यादातर ग्राहकों को अभी तक यह नहीं पता है कि इलेक्ट्रिक वाहन खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना होगा और कौन सी सावधानियां बरतनी होगी। 

io

सभी इलेक्ट्रिक कंपनियां अलग-अलग रेंज की व्हीकल्स मार्केट में ला रही है एक चार्ज में वाहन कितना चलता है इस पर ध्यान देना बहुत जरूरी है शहरी इलाके में अगर आप रहते हैं तो यह 100 किलोमीटर चार्ज रेंज तक का स्कूटर आपके लिए पर्याप्त होगा वहीं अगर आपका राज्य से बाहर टूर लगता है तो आपको 400 से 500 किलोमीटर प्रति चार्ज वाला इलेक्ट्रिक वाहन लेना चाहिए। 

io

इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने से पहले जो सबसे पहले आपके दिमाग में आता है वह है चार्जिंग व्यवस्था आपके शहर और उसके दायरे में कितने चार्जिंग स्टेशन लगाए जा चुके हैं इसकी जानकारी जरूर ले लें इसके अलावा इलेक्ट्रिक वाहन की चार्जिंग की जानकारी ले लें इसमें वाहन कितनी देर में चार्ज होता है सभी इलेक्ट्रिक वाहनों की जान होता है बैटरी क्योंकि यही ताकत देती है इस पर आपको ज्यादा रकम खर्च करनी होती है और इलेक्ट्रिक वाहन इतने बड़े आकार की बैटरी लगती है जो ज्यादा महंगी होती है 5 से 8 साल के अंदर आपकी बैटरी बदलनी होती है इसलिए वाहन निर्माता बैटरी पर कितने साल की वारंटी दे रहे हैं इस को ध्यान में रख ले। 

io

वैसे तो भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक वाहनों की कीमत ज्यादा है लेकिन फिर भी इन्हे खरीदना कुछ सस्ता पड़ता है दरअसल इलेक्ट्रिक वाहन  पर सब्सिडी सब्सिडी मिलती है कई राज्यों द्वारा ही इस पर सब्सिडी दी जा रही है और केंद्र सरकार भी अलग से इलेक्ट्रिक वाहन पर सब्सिडी दे रहा है।