Movie prime

22 मार्च से शुरू होने जा रहा है संवत 2080 ,इस साल शुक्र है राजा बुध का मंत्री ,यहां जाने कैसे रहेगा ये साल

 

बुधवार 22 मार्च हिंदी पंचांग का नया विक्रम संवत 2080  शुरू हो रहा है इस नव संवत का नाम' नल 'है इस नए वर्ष की राजा बुध और मंत्री शुक्र है। बुध और शुक्र की वजह से नव वर्ष सभी के लिए शुभ रहेगा। व्यापारियों को इस साल बड़े लाभ मिल सकते हैं ,व्यापार का विस्तार हो सकता है। बुधवार से चेत्र नवरात्रि शुरू होगी इसे  राम रात्र भी कहा जाता है। 

नवरात्रि में श्री रामचरितमानस का पाठ करना चाहिए

ज्योतिष के अनुसार बुध के राजा होने से  से सुख-समृद्धि बढ़ेगी। धार्मिक कार्य जल्द होंगे इस वर्ष कर्कोटक नामक नाग रहेगा। तम नाम का मेघ बारिश करेगा शुक्र के मंत्री होने से वैभव संपत्तियों में बढ़ोतरी होगी।  चैत्र  नवरात्रि की अंतिम तिथि नवमी पर श्रीराम का प्रकट उत्सव मनाया जाता है।  नवरात्रि में श्री रामचरितमानस का पाठ करना चाहिए और अपने इष्ट देव के मंत्रों का जप करना चाहिए। इस चैत्र में नवरात्रि की शुरुआत में गुरु अपनी मीन में सूर्य के साथ रहेगा। शनि अपनी राशि कुंभ में है। शुक्र और राहु की युति मेष राशि में रहेगी। शनि की तीसरी पूर्ण दृष्टि शुक्र-राहु पर रहेगी।

नवरात्रि में मंत्रों का जप करना चाहिए

 इस वजह से चैत्र नवरात्रि में तंत्र से जुड़े काम जल्दी सफल होते हैं। यह नवरात्रि सभी को सफलता दिलाने वाली होगी। इस समय में संयम से काम करेंगे तो बेहतर रहेगा। इस नवरात्रि में मंत्रों का जप करना चाहिए। श्रीराम का ध्यान करना चाहिए। राम नाम का और देवी मंत्रों का जाप करें। श्री रामचरितमानस ,देवी सूक्त और देवी पुराण का पाठ करने से भक्तों की सभी दुख दूर होते हैं। नवरात्रि में पूजा पाठ करने से तनाव दूर होता है मन को शांति और संतुष्टि मिलती है। समस्याओं को सुलझाने का सामर्थ्य बढ़ता है  देवी  कृपा से भक्तों की बाधाएं दूर होती है।  इस नवरात्रि में सुबह शाम और हनुमान जी के सामने दीपक जलाकर सुंदरकांड या  हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करें।