Movie prime
योगिनी एकादशी के दिन इस तरिके से करे लड्डू गोपाल की पूजा
 

24 जून को आषाढ़ कृष्ण के एकादशी है इसे योगिनी एकादशी कहते हैं इस दिन सर्वार्थ सिद्धि योग है इस वजह इसका महत्व और बढ़ गया है कहते हैं कि स्वार्थ सिद्धि योग में किए गए सभी शुभ कर्म जल्दी सिद्ध होते  हैं एकादशी के दिन भगवान विष्णु के लिए उपवास किया जाता है लेकिन इस तिथि पर  बाल गोपाल की भी पूजा विशेष तरीके से जरूर करनी चाहिए। 

ty


 ज्योतिष के  अनुसार महाभारत काल में विष्णु जी के अवतार श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर को सभी एकादशी का महत्व बताया था स्कंद पुराण के वैष्णव खंड में एकादशी महत्व नाम के अध्याय में एकादशियो के बारे में बताया गया है एकादशी पर बालकृष्ण की विशेष पूजा पाठ करनी चाहिए इस दिन सबसे पहले गणेश जी का पूजन करें गणेश जी को स्नान कराएं ,श्रंगार कराएं ,हार फूल और दूर्वा  चढ़ाएं गणेशाय मंत्र का जाप करें गणेश पूजा के बाद बाल गोपाल की पूजा करें।

rt 

एकादशी की सुबह जल्दी उठकर सूर्य भगवान को अध्र्य दे  घर के मंदिर में सबसे पहले गणेश जी की पूजा करें उनकी पूजा के बाद बाल गोपाल की पूजा शुरू करें बाल गोपाल को पहले शुद्ध जल से ,फिर पंचामृत से ,फिर के केसर मिश्रित दूध से और फिर शुद्ध जल से अभिषेक करवाएं इसके लिए दक्षिणावर्ती शंख या चांदी के लोटे का भी उपयोग कर सकते हैं बाल गोपाल को अभिषेक के बाद पीली चमकीले वस्त्र हार ,फूल और आभूषण पहनाये सिंगार  करे , जनेऊ पहनाए ,नारियल पंचामृत चढ़ाये , तुलसी के पत्तों के साथ मिठाईयां माखन मिश्री का भोग लगाएं दक्षिणा चढ़ाएं धूप दीप आरती करें। 

rt

पूजा करते समय श्रीकृष्ण के नामों के मंत्र का जाप करते रहे आखिर में पूजा में हुयी जाने अनजाने गलती के लिए क्षमा मांगे योगिनी एकादशी के दिन  तुलसी में जल चढ़ाएं और सूर्यास्त के बाद में तुलसी की पूजा करनी चाहिए तुलसी के पास दीपक जलाए परिक्रमा करें ध्यान रहे कि इस दौरान तुलसी स्पर्श नहीं होनी चाहिए।