Movie prime
शनिचरी अमावस्या पर इस बार बना 100 साल बाद ये बड़ा संयोग ,यहां जाने
 

हिंदू नव वर्ष विक्रम संवत 2079 के राजा शनि ग्रह है 29 अप्रैल को शनि का राशि परिवर्तन होने जा रहे हैं   इस दिन शनि मकर राशि से कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे शनि का यह दुर्लभ संयोग हर का मायने में काफी खास है ज्योतिष के अनुसार शनि के राशि परिवर्तन के बाद 30 अप्रैल को शनिचरी अमावस्या के साथ चैत्र  का महीना भी समाप्त होगा और संयोगवश इसी दिन आंशिक सूर्यग्रहण भी लग रहा है पिता पुत्र का ऐसा दुर्लभ संयोग पिछले 100 वर्षों में नहीं बना है । 

ty

ज्योतिषियों का कहना है कि यह  योग सभी राशियों के जातकों के लिए बहुत शुभ शुभ साबित होने वाला है जो लोग शनि की साढ़ेसाती ,शनि की ढैया से परेशान चल रहे हैं उन्हें अमावस्या पर विशेष उपाय करने से राहत मिलेगी शनिदेव को तेल चढ़ाएं और काले कपड़े पर उड़द की दाल और काले तिल रखकर शनि मंदिर में दान करें इस दिन भगवान शिव हनुमान जी की पूजा करने से भी संकटों में मुक्ति मिलेगी। 

io

29 अप्रैल को शनि देव 30 साल बाद कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे शनि कुंभ राशि के स्वामी है इसलिए इस राशि के जातक कोशनि देव की  काफी कृपा होगी इस राशि परिवर्तन के बाद कर्क और वृश्चिक राशिपर ढैय्या   शुरू हो जाएगी वहीं मकर कुंभ मीन राशि पर साढ़ेसाती रहेगी और धनु राशि की साढ़ेसाती उतर जाएगी शनिचरी अमावस्या के दिन आंशिक  सूर्य ग्रहण में लग रहा है यह ग्रहण भारत में नहीं होगा इसलिए इसका सूतक   मान्य नहीं होगा कि सूर्य शनि के बीच पिता पुत्र का संबंध होने की वजह से इस घटना को महत्वपूर्ण माना जा रहा है।