Movie prime

इन बड़े राजयोग में है इस बार देवउठनी एकादशी ,लेकिन 22 नवम्बर को है पहला शादी का महूर्त

 

आज देवउठनी एकादशी है। चतुर्मास के 4 महीने तक चीर निंद्रा में रहने के बाद भगवान विष्णु इस दिन जागते हैं इसलिए इसे देव प्रबोधिनी एकादशी कहते हैं। इस पर्व  के बाद से ही शादियां ,गृह प्रवेश और मांगलिक काम शुरू हो जाते हैं। शादी और अन्य मांगलिक कार्य 4 नवंबर से शुरू नहीं हो पाएंगे यदि शुक्र तारा अस्त है और 18 नवंबर से उदय होगा इसलिए ज्यादातर शादियां इस दिन के बाद ही शुरू होगी फिर भी कुछ जगहों पर 4 नवंबर से शादियां शुरू हो रही है क्योंकि देवउठनी एकादशी को अबूझ मुहूर्त माना गया है।

devac

एकादशी पर बन रहे ये शुभ संयोग 

ये देव विवाह का दिन भी है। घरों में गन्ने के मंडप सजाये जाएंगे और शाम को गोधूलि बेला में तुलसी शालिग्राम का विवाह होगा तुलसी विवाह का महूर्त 5 50 से 7 बजे तक है । मंदिरों में विशेष पूजा होगी इस बार एकादशी पर मालव्य, शश, पर्वत, शंख और त्रिलोचन नाम के पांच राजयोग योग बन रहे हैं साथ ही तुला राशि में चतुर ग्रही योग बन रहा है। इस शुभ संयोग में देव प्रबोधिनी एकादशी की पूजा करने से अक्षय फल मिलेगा कई सालों बाद ऐसा संयोग बन रहा है। ज्योतिष ग्रंथों में देवउठनी एकादशी को अबूझ मुहूर्त कहा गया है यानी इस दिन बिना पंचांग देखे मांगलिक काम किए जा सकते हैं। इसी परंपरा के चलते कई लोग इस दिन शादियां करेंगे। 

deva


इस साल है इतने कम शादी के महूर्त 

वही ज्योतिषियों का मानना है कि शादी के लिए जरूरी तिथि ,वार ,नक्षत्र ना मिले तो इस दिन विवाह कर सकते हैं लेकिन शुक्र ग्रह अस्त हो तो    अभूझ   होते हुए भी शादी नहीं करनी चाहिए। देवउठनी के साथ अब शादियों का सीजन शुरू हो गया है लेकिन इस बार शुक्र अस्त होने की सीजन से पहला मुहूर्त 22 नवंबर को है। इस मंगलवार 9 दिसंबर तक शादियों के लिए 9 दिन शुभ महूर्त  रहेंगे फिर धनु  मास शुरू हो जाने के कारण अगले 15 जनवरी से शादियां शुरू होगी जो कि 28 फरवरी तक चलेंगी। अगले साल मार्च में होलाष्टक और  मल मास  रहेगा यानी सूर्य गुरु की राशि मीन में रहेगी जब ऐसा होता है तो शादी नहीं होती। अप्रैल में गुरु अस्त हो  जाएगा इसलिए इन दोनों महीनों में विवाह मुहूर्त नहीं होंगे। 4 मई 2023 शादियों का महूरत फिर से शुरू होगा जो 27 जून तक रहेगा इसके 1 दिन बाद 29 जून को देव शयनी एकादशी रहेगी इस दिन सारे मांगलिक कार्य 4 महीनों के लिए बंद हो जाएंगे। 

deva