Movie prime
शाम के समय पूजा करते समय रखे इन नियमो का ध्यान ,कभी नहीं होगी पूजा असफल
 

 हिंदू धर्म शास्त्र में स्नान के बाद सुबह और शाम पूजा करने अनिवार्य बताया गया है कि हर व्यक्ति अपने सामर्थ्य और श्रद्धा भाव के अनुसार अपने इष्ट की पूजा करते हैं लेकिन कई बार पूजा पाठ का सही फल नहीं मिलता है ऐसे में अक्सर पूजा पाठ में बताए गए नियमों में कुछ गड़बड़ी की वजह से भी हो सकता है इसलिए सुबह- शाम को पूजा करते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है आज हम आपको बताते हैं कि शाम की  पूजा के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

yu

कुछ लोग शाम के समय पूजा करते समय पहले फूल तोड़ लेते हैं लेकिन ऐसा करना शुभ नहीं होता सुबह के समय पूजा के दौरान भगवान को ताजे फूल चढ़ाना अच्छा होता है लेकिन शाम के समय पूजा के लिए फूल तोड़ना शुभ माना जाता है। 

yu

हिंदू धर्म शास्त्रों में बताया कि शाम के समय पूजा के दौरान घंटी या शंख  नहीं बनाना चाहिए क्योंकि सूर्य अस्त होने के बाद देवी देवता शाम को विश्राम में चले जाते हैं और घंटी और शंख बजाने से उनके आराम में खलल पड़ता है हिंदू धर्म में किसी भी पूजा पाठ के अनुसार में तुलसी के पत्तों का प्रयोग काफी शुभ माना गया है लेकिन शाम के समय तुलसी की पत्ती नहीं तोड़ने चाहिए और ना ही शाम के समय होने वाली पूजा में तुलसी के पत्तों का उपयोग करना चाहिए वही रात के समय सूर्य देव का आह्वान गलती से भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह अशुभ होता है।