Movie prime
क्या श्राद्ध पक्ष में कुछ भी खरीदने से पितृ नाराज हो जाते है ? यहां जाने इसका दूसरा पक्ष
 

10 अगस्त 7 सितंबर से श्राद्ध पक्ष की शुरुआत हो चुकी है इस महीने में पूर्वज धरती पर आते हैं और अपने परिवार वालों का आशीर्वाद देते हैं श्राद्ध पक्ष में कई तरह के नियम है जो हर किसी  जो कई दशकों से चलते आ रहे है कहते हैं कि श्राद्ध पक्ष में कोई भी नया काम नहीं करना चाहता और श्राद्ध पक्ष में कुछ भी ना खरीदने के लिए कहा या जाता है इस दौरान 15  से 16  दिन  तक मार्केट एकदम सूना हो जाता है शादी विवाह से जुड़े लोग ,जोहरी,  कार बाजार, निर्माण सभी लोग इस श्राद्ध पक्ष के दौरान कुछ भी खरीदने से बचते हैं हालांकि श्राद्ध पक्ष से  एक ऐसा पक्षं जिसमे पित्तृ  अपनी संतति से मिलने आते हैं अपने परिवार की उन्नति देखकर प्रसन्न ही होंगे । 

srad

नाराज होंगे  यह कहना गलत होगा कि पितृपक्ष में नई चीजें खरीदने से पूर्वज नाराज होते हैं और आशीर्वाद नहीं देते हैं ऐसी धारणा को शास्त्रों में कहीं भी उल्लेख नहीं किया गया है आप 16 दिन अपने नियमित कामों को कैसे बंद रख सकते हैं इन दिनों पूर्वज की स्मृति में अच्छे कर्म करने चाहिए निर्धनों की सेवा सामाजिक और धार्मिक कार्य कर सकते हैं लंगर लगाए, पेड़ लगाएं द,वाइयां बांटे  ये दिन भी अन्य  दिनों की तरह शुभ ही होते हैं। 

srad

जब पितृ  हमारे घर आते हैं उन्हें याद करके उनका आशीर्वाद लें लेकिन श्राद्ध पक्ष के अंतर्गत कुछ गलत काम करने से बचना चाहिए क्योंकि नवरात्रा की तरह यह भी  शुद्ध  पखवाड़ा  भी अनुशासन पर्व है यदि आप जेवर    विवाह, गृहपयोगी, वस्तुएं, कपड़े आदि इस पक्ष में खरीदना चाहते हैं तो इन शुभ मुहूतों में भी खरीद सकते हैं13 ,17 24-25 सितंबर को स्वार्थ सिद्धि योग है और यह काफी शुभ माना जाता है इसलिए  इस इस दिन आप सब खरीदारी कर सकते हैं 17 सितंबर 2022 को सिद्धि योग में भी आप चाहे तो खरीदारी कर सकते हैं।