Movie prime

ये रत्न धारण करके आप फर्श से पहुंच सकते है अर्श पर ,लेकिन धारण करने से पहले रखे इन बातो का ध्यान

 

हर रत्न  किसी ने किसी ग्रह से संबंधित होता है। कुंडली में मौजूद ग्रह दोष के कारण ज्योतिष किसी विशेष रत्न को धारण करने की सलाह देते हैं उस रत्न को धारण करने से जीवन में आ रही की परेशानी से छुटकारा मिलता है और व्यक्ति मानसिक तनाव से भी मुक्त हो जाता है।रत्न  शाश्त्रो  में दो काफी शक्तिशाली रत्नों का उल्लेख किया गया है उन्हें बिना ज्योतिषी परामर्श के धारण करना हानिकारक परिणाम दे सकता है इन शक्तिशाली रत्न की वजह से व्यक्ति को मानसिक परेशानियों के साथ साथ ही आर्थिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। 

 ialm

नीलम रत्न :

यह रत्न शनि ग्रह से संबंधित है। रत्न  शास्त्र में इस रत्न  को काफी शक्तिशाली मारना चाहता है नीलम रत्न फलदाई होने पर व्यक्ति को आसमान की बुलंदियों पर पहुंचा सकता है लेकिन इस रत्न को बिना ज्योतिषी परामर्श के धारण करना हानिकारक साबित हो सकता है। कुंडली में शनि की स्थिति को ध्यान में रखकर नीलम को धारण करना चाहिए वरना इस रत्न की वजह से उत्पन्न दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ सकता है इस  रत्न के बुरे प्रभाव के कारण परिवार में झगड़े ,धन हानि ,कार्य में रुकावट बीमारी आने से जैसी चीजें आने लगती है इस रत्न को शनिवार के दिन मध्यरात्रि के समय धारण करें ,धारण करने से पूर्व इस रत्न को शनि देव या भगवान शिव को अर्पित करें इस रतन को लोहे या चांदी में धारण करना चाहिए। 

nilam

2 हिरा :

 चमक और अपने खास बनावट के लिए हीरा काफी लोकप्रिय है।  इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति की सुंदरता में चार चांद लग जाते हैं।  यदि कोई स्त्री रत्न को धारण करती है तो उसका रूप और अधिक निखर उठता है। लेकिन बिना ज्योतिष परामर्श के इस रत्न को धारण करना हानिकारक हो सकता है। इस रत्न को धारण करने से वैवाहिक जीवन में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है और रक्त संबंधी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है ज्योतिष के अनुसार हीरा शुक्र ग्रह का रत्न है।