Movie prime

Video :अपने कॅरियर का लास्ट ऑस्ट्रेलियन ओपन मिक्स्ड डबल्स के फ़ाइनल में पहुंचकर सानिया मिर्जा हुयी इमोशनल

 

सानिया मिर्जा और रोहन बोपन्ना की गैर-वरीयता प्राप्त भारतीय जोड़ी ने बुधवार को ऑस्ट्रेलियन ओपन मिक्स्ड डबल्स के सेमीफाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त देसीरा क्रॉजिक और नील स्कूप्स्की को 7-6(5), 6-7(5), 10-6 से हराया। सेमीफाइनल मुकाबला एक घंटे 52 मिनट तक चला। अपने करियर का आखिरी ग्रैंड स्लैम खेल रही सानिया के लिए जीत की तरफ बढ़ते ही खुशी चरम पर थी।

दोनों ने अपने विरोधियों से हाथ मिलाने से पहले एक-दूसरे को गले लगाया

बोपन्ना भी जीत से बेहद खुश हैं। दोनों ने अपने विरोधियों से हाथ मिलाने से पहले एक-दूसरे को गले लगाया और पूरे दिल से समर्थन के लिए भीड़ का शुक्रिया अदा किया।एक-एक सेट बांटने के बाद भारतीयों ने सुपर टाई-ब्रेकर में बढ़त बना ली। सानिया ने तीन मैच प्वाइंट हासिल करने के लिए एक शानदार बैकहैंड विनर पाया और एक ड्राइव वॉली के साथ प्रतियोगिता को सील कर दिया जिसे क्राव्स्की वापस नहीं कर सके।मैं रोने वाला नहीं हूं, लेकिन मैं अभी लगभग वहां हूं, मैं यहां पिछले 18 सालों से प्यार महसूस कर रहा हूं। यह मेरे लिए घर जैसा लगता है, मेरा यहां एक परिवार है, मैं घर पर खाता हूं और मैं इतने सारे भारतीय मेरा समर्थन कर रहे हैं," सानिया ने कहा, जिन्होंने 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन में अपना पहला ग्रैंड स्लैम खिताब जीता था, उन्होंने हमवतन महेश भूपति के साथ खिताब जीता था।

सानिया ने सातवां बड़ा खिताब जीतने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है

इस जीत के साथ सानिया ने सातवां बड़ा खिताब जीतने की अपनी उम्मीदों को जिंदा रखा है। गौरतलब है कि टेनिस स्टार ने पहले ही पुष्टि कर दी है कि दुबई में डब्ल्यूटीए 1000 इवेंट उनका आखिरी पेशेवर टेनिस मैच होगा।