Movie prime
मोनकेपॉक्स को WHO ने महामारी घोषित की - जानिए क्यों महिलाओ की उम्र पुरुषो से अधिक होती है ?
 

विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने मंकीपॉक्स को वैश्विक महामारी घोषित किया है। इसकी बचने के लिए WHO की ओर से गाइडलाइन भी जारी की गई है। इसमें बताया गया है कि मंकीपॉक्स के ज्यादातर मामले आपस में संबंध बनाने वाले समललैंगिक पुरुषों में है। साथ ही यह प्रेग्नेंट महिलाओं और छोटे बच्चों के लिए भी खतरनाक है। गाइडलाइन में बताया गया है कि मंकीपॉक्स एक-दूसरे को गले लगाने या किस करने से भी फैल सकता है।

इससे बचने के लिए समलैंगिक पुरुषों को अपने सेक्स पार्टनर कम करने की सलाह दी गई है।मां नहीं बन पा रही महिलाएं IVF यानी कृत्रिम गर्भाधान का सहारा लेती हैं। लेकिन अब एक नई रिसर्च में पाया गया है कि IVF तकनीक से जन्मे बच्चे सामान्य बच्चों की तुलना में हल्के, पतले और लंबाई में भी छोटे होते हैं।रिसर्च में पाया गया कि कम फिजिकल एक्टिविटी करने वाले और फास्ट फूड खाने वाले बच्चों में हाई ब्लड प्रेशर की समस्या अधिक है।

जिम में अकेले समय बिताने की अपेक्षा ग्रुप में एक्सरसाइज करना ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। एक रिसर्च में बताया गया है कि अकेले वर्क-आउट करने के मुकाबले दोस्तों के साथ किया गया उतना ही वर्क-आउट ज्यादा फायदेमंद होता है। ऐसे लोगों का वजन भी जल्दी कम होता है। साथ ही इससे मेंटल हेल्थ पर भी सकारात्मक असर पड़ता है।दुनिया भर में तमाम देशों में पुरुषों की औसत आयु महिलाओं के मुकाबले 2 से 5 साल तक कम है।

वैज्ञानिकों ने अब पुरुषों के कम जीने की वजह ढूंढ निकाली है। ब्रिटेन में हुए एक सर्वे के मुताबिक पुरुषों में मौजूद Y क्रोमोसोम उनकी कम उम्र का कारण बनती है। जबकि महिलाओं में मौजूद X क्रोमोसोम उनको अधिक उम्र देता है। भारत में भी पुरुषों की औसत उम्र 66.9 साल है। जबकि महिलाओं की औसत उम्र 69.9 साल है।बार-बार झपकी आना स्ट्रोक की चेतावनी हो सकती है। रिसर्चर्स ने पाया कि जो लोग कभी नैप नहीं लेते हैं, उनके मुकाबले दिन में कई बार नैप लेने वाले लोग स्ट्रोक की चपेट में ज्यादा आए।