Movie prime
60 की उम्र के बाद डाइट में शामिल करे ये चीजे ,बुढ़ापे में भी नहीं महसूस होगी कमजोरी
 

बुढापा उम्र का ऐसा पड़ाव है जिससे व्यक्ति के शरीर में कई बदलाव आते हैं। 60 साल की उम्र के बाद शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने लगती है इससे इम्यूनटी  कमजोर हो जाती है। बुढ़ापे में संक्रमण और बीमारियों का खतरा भी अधिक बढ़ जाता है ऐसे में उम्र के इस पड़ाव में सेहत को खास ख्याल रखना बहुत जरूरी है।  60 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को अपनी डाइट में सीफूड शामिल करने चाहिए जिससे उनके शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की आपूर्ति हो सके। बुढ़ापे में पाचन तंत्र भी कमजोर हो जाता है इसलिए ऐसी चीजें खाएं जो पचाने में आसान हो। 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को अपने खान-पान में प्रोटीन ,कैल्शियम ,विटामिन ,फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट जैसे पोषक तत्व शामिल करने चाहिए इसके साथ ही हल्का-फुल्का व्यायाम भी जरूर करें आज हम आपको बताते हैं कि 60   साल से अधिक उम्र के लोगों को क्या अपनी डाइट शामिल करना चाहिए चाहिए। 

umr

1 दूध :

60 साल की उम्र में के बाद कई बुजुर्गों के दांत कमजोर हो जाते हैं ऐसे में  खाना चबाने में दिक्कत होती है ,दूध शरीर पोषक तत्वों की आपूर्ति करने के लिए एक बेहतरीन विकल्प है। दूध में प्रोटीन,कैल्शियम,विटामिन और मिनरल्स जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं दूध पीने से शरीर में विटामिन डी की कमी पूरी होती है और हड्डियां मजबूत होती है। 

umae

 2  दही :

इस उम्र के बादडाइट में दही  जरूर शामिल करें। क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ-साथ हड्डियां कमजोर होने लगती है।  दही में भरपूर मात्रा में कैल्शियम होता है जो हड्डियों को मजबूत बनाता है इसके साथ ही पाचन तंत्र के लिए भी दही एक बेहतरीन फूड है। दही में हेल्दी बैक्टीरिया होते हैं जो पाचन तंत्र को तंदुरुस्त रखने में मदद करते हैं। 

umae

 ३पालक :

बुढ़ापे में अक्सर शरीर में खून की कमी हो जाती है ऐसे में डाइट में पालक जरूर शामिल करें पालक में भरपूर मात्रा में आयरन होता   है जिससे एनीमिया की शिकायत दूर होती है इसके साथ  इसमें   कैल्शियम ,पोटेशियम ,मैग्नीशियम ,फोलेट और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व भी मौजूद होते हैं पालक का सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मदद होती  है इसके अलावा आप 60 साल की उम्र के बाद डाइट में  ऐसी दाल  और अनाज को शामिल कर सकते हैं जो हल्की और पचाने में आसान हो 60 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों को मूंग की दाल और  बाजरे का सेवन करना चाहिए यह सभी चीजें ना सिर्फ पचाने में आसान होती है बल्कि इनमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन ,फाइबर विटामिन और जिंक जैसे कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं यह  दाल और अनाज सेहत के लिए फायदेमंद होते है।