Movie prime
पृथ्वी 24 घंटे से भी कम समय में लगा रही है सूर्य का चक्कर ? आखिर क्या है इसके मायने ?
 

सूर्य का एक चक्‍कर पूरा करने में पृथ्‍वी को 24 घंटे लगते हैं।यह बात सार्वभौमिक है।  लेकिन अब शायद ये बात नहीं रही है क्युकी वैज्ञानिको द्वारा एक रिसर्च द्वारा बतया जा रहा है की धरती को  सूर्य का एक चक्कर काटने में 24 घंटे से भी काम का समय लग रहा है।  यह बात हैरान करने वाली है। ये बात सुनने में अजीब ज़रूर  लग रही होगी लेकिन ये बात सत्य है।  सूर्य की परिक्रमा करने का अपना रिकॉर्ड पृथ्‍वी खुद तोड़ रही है। 29 जुलाई को पृथ्वी ने 24 घंटे से कम वक्‍त में सूर्य का एक चक्‍कर पूरा कर लिया। जानकारी के अनुसार, पृथ्‍वी ने 24 घंटे के रोटेशन से 1.59 मिलीसेकंड कम समय में यह चक्‍कर पूरा किया

वैज्ञानिकों ने कहा है कि पृथ्‍वी ने हाल के वर्षों में अपनी गति बढ़ा दी है। मतलब कि यह सूर्य का चक्‍कर कम वक्‍त में पूरा कर ले रही है।इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार, 1960 के बाद साल 2020 में पृथ्वी ने अपना सबसे छोटा महीना देखा था। उस साल 19 जुलाई को अब तक का सबसे छोटा दिन दर्ज किया गया था।

तब पृथ्‍वी ने सूर्य का एक चक्‍कर 24-घंटे से 1.47 मिलीसेकंड कम समय में पूरा कर लिया था।2021 में भी पृथ्‍वी बढ़ी हुई रफ्तार से सूर्य का चक्‍कर लगाती रही, लेकिन इसने कोई रिकॉर्ड नहीं तोड़ा। हालांकि इंटरेस्टिंग इंजीनियरिंग (IE) के अनुसार यह 50 साल के छोटे दिनों के फेज की शुरुआत हो सकती है।

पृथ्वी के घूमने की गति में बदलावों की वजह का अभी पता नहीं चल पाया है, लेकिन वैज्ञानिकों का अनुमान है कि ऐसा पृथ्वी के कोर की अंदरुनी या बाहरी प्रक्रियाओं, महासागरों, ज्वार और जलवायु में परिवर्तन आदि की वजह से हो सकता है।हलाकि इस तत्त्व को लेकर अभी तक कोई पुख्ता वजह नहीं दी गयी है।  यह सिर्फ विज्ञानको का अनुमान है।