Movie prime

रेलवे ने स्लीपर समेत AC कोच में की सामान ले जाने की लिमिट ,इससे ज्यादा हुआ भार तो भरना पड़ सकता है जुर्माना

 

देश में त्योहारी सीजन का माहौल है होली खत्म कर लो घर लौट रहे हैं लोगों ने पहले ही ट्रेन टिकट बुक की है। जब कोई अपने घर जाता है तो जाहिर है वह  हार के समय सामन  भी लेकर जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक यात्री ट्रेन में अपने साथ कितना सामान लेकर जा सकता है।  हालांकि यह  क्लास के हिसाब से अलग होता है। अगर ट्रेन में चेकिंग के दौरान आपका सामन  निर्धारित लिमिट से ज्यादा पाया गया तो आपका खर्चा हो सकता है। मतलब आपको भारी भरकम जुर्माना देना पड़ सकता है। 

आपको भारी-भरकम जुर्माना देना पड़ सकता है

बता दें कि भारतीय रेलवे बोर्ड द्वारा ट्रेन में स्लीपर कोच नियर टू कोच और फर्स्ट क्लास को उसमें सामान ले जाने के लिए नियम तय किए गए हैं यानी आप एक निर्धारित सीमा तक ही सामान ले जा सकते हैं। आपकी टिकट के हिसाब से एक वजन तय होता है और ट्रेन में उसी हिसाब से सामान ले जा सकते हैं अगर आप इससे ज्यादा सामान ले जाते हैं तो आपको भारी-भरकम जुर्माना देना पड़ सकता है। 

स्लीपर कोच में एक पैसेंजर 40 किलो सामान ले जा सकता है

 भारतीय रेलवे के नियमों के मुताबिक स्लीपर कोच में एक पैसेंजर 40 किलो सामान ले जा सकता है। अगर दो लोग हैं तो 80 किलो तक सामान ले जा सकते हैं। यह लिमिट प्रति यात्री के हिसाब से है। वही टियर टू कोच में एक यात्री 50 किलो तक का सामान ले जा सकता है। फर्स्ट क्लास में यह  लिमिट ज्यादा हो जाती है। फर्स्ट क्लास में यात्रा करने वाले 70 किलो तक का सामान ले जा सकते हैं। कोई भी यात्री इससे ज्यादा सामान नहीं ले जा सकता। अगर कोई आदमी ट्रेन में सफर के दौरान लिमिट से ज्यादा सामान लेकर जाता है तो उसे 500 किलोमीटर की यात्रा में ₹600 से ज्यादा फाइन देना पड़ सकता है।  और यह जुर्माना दूरी के आधार पर तय किया जाता है अगर ज्यादा सामान है तो लगेज बोगी में इसे जमा करना होता है और इसी के हिसाब से पैसे देने पड़ते हैं अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको जुर्माना देना पड़ सकता है।