Movie prime
क्या भारत में भी आ जायेगा श्रीलंका जैसा संकट तो विदेशमंत्री ने बैठक में दिया ये जवाब
 

भारत का पड़ोसी देश श्रीलंका कई महीनों से आर्थिक व राजनीतिक संकट से जूझ रहा है  इसी संकट को ध्यान में रखते हुए मंगलवार को केंद्र सरकार ने सर्वदलीय बैठक बुलाई इस बैठक में भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत की नजर श्रीलंका के पूरे हालात पर है। 

shnj

विदेश मंत्री ने कहा कि श्रीलंका काफी गंभीर संकट से गुजर रहा है जो भारत को स्वाभाविक रूप से चिंतित करता है भारत में इस तरह के संकट आने के सवाल पर उन्होंने से पूरी तरह से खारिज कर दिया जयशंकर ने कहा कि जिस कारण से हमने आप सभी से सर्वदलीय बैठक में हिस्सा लेने का अनुरोध किया है वह यह कि यह एक बहुत गंभीर संकट है जो और श्रीलंका में हम जो देख रहे हैं वहीं कई मायनों में अभूतपूर्व स्थिति है उन्होंने कहा कि यह मामला  करीबी पड़ोसी से संबंधित है और इसकी काफी करीब होने के कारण हम स्वाभाविक रूप से परिणामों को लेकर चिंतित है। 

sanju

जयशंकर ने कहा कि श्रीलंका को लेकर कोई भी गलत तुलना हो रही है और कुछ लोग पूछ रहे हैं कि क्या ऐसी स्थिति भारत में आ सकती है उन्होंने कहा कि यह तुलना गलत है उन्होंने कहा कि श्रीलंका से आने वाला सबक बहुत ही मजबूत है यह सबक है वित्तीय विवेक जिम्मेदार शासन और मुफ्त की संस्कृति नहीं होनी चाहिए। 

sanju

सरकार की ओर से बैठक में हिस्सा लेने वालों में संसदीय कार्यमंत्री प्रह्लाद जोशी शामिल थे, जबकि विपक्ष की ओर से कांग्रेस के पी.चिदंबरम और मणिकम टैगोर, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की ओर से शरद पवार और द्रमुक की ओर से टी.आर.बालू और एम.एम.अब्दुल्ला शामिल रहे।