Movie prime
Video :102 साल के जिन्दा बुजुर्ग की पेंशन बंद हुयी तो निकाली ये तरकीब ,बारात निकालकर अधिकारियो को दिया संदेश ,'थारा फूफा अभी जिंदा है'
 

हाल ही में एक कागज नाम की फिल्म आई थी जिसमें एक शख्स खुद को जिंदा रखने के लिए कई कोशिशें करते हैं ठीक है ऐसा ही मामला असल  जिंदगी में भी साथ में आया है दरअसल  102 साल के दादाजी को पेंशन नहीं मिल रही थी ऐसे में गुस्से में आकर दादाजी ने ऐसी योजना बनाई जिसे जानने के बाद आप पूरी तरह से दंग रह जाएंगे। 

fufa

यह मामला हरियाणा के रोहतक जिले का है यहां एक शख्स खुद को जिंदा दिखाने के लिए रथ में सवार होकर बरात निकालता हुआ सरकारी अधिकारियों के पास पहुंचता है इस बारात में और भी कई लोग शामिल हुए और 'बकायदा पोस्टर के साथ ' और पोस्टर में लिखा था 'थारा फूफा जिंदा है' आप यहां पर इस मजेदार वीडियो को देख सकते हैं। 

fufa

वीडियो से प्राप्त जानकारी के अनुसार रोहतक जिले के  गांधरा गांव निवासी दुलीचंद को को कागजों में मृत घोषित कर कर इनकी  पेंशन इस  साल बंद कर दी गई थी से परेशान होकर बुजुर्ग ने अनोखी तरकीब निकाली और खुद को जिंदा साबित करने के लिए दूल्हे  की तरह नोटों की माला पहनी और रोहतक नगर से मानसरोवर पार्क से स्नेह नहर विश्रामगृह तक अपनी बारात निकाली और राज्य सरकार से उनकी पेंशन फिर से शुरू करने की मांग की। 


सोशल मीडिया पर यह वीडियो काफी चर्चा में है इस वीडियो को कई लोगों ने अपने प्रोफाइल पर शेयर किया है और 102 साल केदूल्हे  को नई तरकीब के लिए बधाई दी है इस वीडियो की पुष्टि हम लोग नहीं करते मगर यह वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया जा रहा है वायरल हो रहे इस वीडियो को 10000 से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं वहीं इस वीडियो में कई लोगों के कमैंट्स भी देखने को मिल रही हैं।