Movie prime
यूपी पुलिस अब हिस्ट्रीशीटरों की मदद से करने वाली है यूपी की गुंडागर्दी खत्म ,यहां जाने क्या है रणनीति
 

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर पुलिस ने एक नया कदम उठाते हुए 900 से अधिक हिस्ट्री शीटरों  से पुलिस मुखबिर बनाने को कहा है यह पहल संकल्प योजना का एक हिस्सा है जिसकी मकसद मुखबिरों के नेटवर्क को फिर से एक्टिव करना है अगर मुखबिर की तौर पर अपराधी का अच्छा प्रदर्शन रहता है तो इसके बदले में अधिकारी उनकी पुलिस रिकॉर्ड से 'हिस्ट्रीशीटर' हटा देगी। 

up

इन मुखबिरों  को पुलिस ने अच्छे आचरण की शपथ दिलाई है और हाल ही में कार्यक्रम में कोई अपराध न करने का संकल्प लिया है यह योजना सहारनपुर ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विपिन टांडा ने बनाई है एसपी ने कहा इलेक्ट्रॉनिक निगरानी की जिसके जरिए हम अपराधियों को ट्रैक करते हैं यह सीमित है लोगों ने इस तरह के तरीकों को चकमा देना सीख लिया है इसके अलावा किसी भी संदिग्ध गतिविधियों के बारे में पहले से जानकारी हासिल करना मुश्किल है। 

up

मुखबिर किसी भी शख्स से ऐसी जानकारी आसानी से हासिल कर सकता है और अपराध को रोक सकता है इस तरह हमने पूरे जिले में मुखबिरों  के नेटवर्क को फिर से एक्टिव करने का फैसला किया है इस योजना के तहत पुलिस सूचना के बदले अगले 6 महीने के लिए अच्छी आचरण का प्रदर्शन करने वाली हिस्ट्रीशीटर पर निगरानी रोक सकती है। 

up

उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान उन्हें  जिले से बाहर नहीं किया जाएगा और पुलिस उनके बदलते व्यवहार के चलते उनके रिकॉर्ड में अपडेट करेगी मुखबिरों को वित्तीय सहायता देने की योजना है मुखबिरों को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बता दिया गया है इसके तहत एक नई शुरुआत करने के लिए लोन मिल सकता है।