Movie prime
देश के इस हिस्से में टोमेटो फ्लू ने मचाया कोहराम ,ये लक्षण दीखते ही तुरंत कर खुद को आइसोलेट
 

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में 'टोमेटो फ्लू' के मामले बढ़ते जा रहे हैं जिला अस्पताल के चर्म रोग विशेषज्ञ पास हर रोज ऐसे मरीज आ रहे हैं डॉक्टरों का कहना है कि टोमेटो फ्लू के मरीजों को सलाह दी जा रही है कि वह अपना ज्यादा से ज्यादा  ध्यान रखे  और कम से कम 8 से 10 दिनों तक आइसोलेट रहकर ही दवाओं का सेवन करें विशेषज्ञों की सलाह है की इसे लेकर घबराने की जरूरत नहीं है डॉक्टर्स से दवा का सेवन करके इस बीमारी को मिटाया जा सकता है। 

tmatr

 चर्म रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एनके वर्मा ने बताया कि टोमेटो फ्लू  हैंड फुट माउथ डिजीज है जो कोकसेक  ए वायरस के नाम से होता है इसके सिम्टम्स काफी हल्के होते हैं हाथ और पैर और मुंह के अंदर छोटे छोटे दाने हो जाते हैं टोमेटो फ्लू से संक्रमित इन मरीजों की उम्र 6 से 10 साल के बीच है इनके शरीर पर दाने निकल रहे हैं पानी भरे हुए दाने शरीर के अंगुलियों से लेकर तलवो  के आसपास और मुँह के अंदर तक निकल रहे  है मुंह के दाने को लोग छाले  समझ करइलाज कर रहे हैं जबकि  छाले और इसमें  काफी फर्क है इसके लक्षण के आधार पर ही मरीजों का इलाज किया जा रहा है। 

tometto

 डॉक्टर का कहना है कि घबराने की जरूरत नहीं है इस बीमारी  के लक्षण में मरीज को  बुखार के साथ खुजली होती है जिसकी दवाई जीती जा रही है यह 8 से 10 दिनों के बीच ठीक हो जाएगा अगर किसी को लक्षण दिखाई देते हैं तो डॉक्टर  से तुरंत संपर्क करें और खुद दवा का सेवन बिल्कुल ना करें डॉक्टर एनके वर्मा ने बताया कि अभी तक टोमेटो फ्लू की जांच की कोई सुविधा जिला  हॉस्पिटल में नहीं है हालांकि इसके होने की जावर जांच की जरूरत नहीं है । 

tometo

 इसके लिए पेनिक होने की जरूरत भी नहीं  है  अपने आप को आइसोलेट  कर कर चिकित्सा द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि इस बीमारी से छोटे बच्चे को बचाने की जरूरत है क्योंकि एक संक्रामक बीमारी है यह बीमारी छोटे बच्चों पर ज्यादा असर करती है इसलिए अगर घर में किसी को दिक्कत हो तो बच्चों से दूरी बनाए इसके अलावा बड़े भी बीमारी से बच कर रहे या उन्हें भी ये   बीमारी हो सकती है।