Movie prime
19 साल के इस बिजनेस ने झाड़ दिए पूरी दुनिया में झंडे ,हो गया 1000 करोड़ के क्लब में शामिल
 

केवल्य  मोहरा और अदित पालीचा  गुरु इंडिया रिच लिस्ट में 2022 में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के भारतीय हैं दोनों ने क्विक डिलीवरी स्टार्टअप 'जैपेटो' के सह संस्थापक आईआईएफएल वेल्थ हुरून इंडिया रिच लिस्ट 2022 में शामिल होने वाली सबसे कम उम्र के आदमी का रिकॉर्ड बनाया है केवल्य की  उम्र 19 साल है और हुरून सूची में केवल्य हजार करोड़ की संपत्ति के साथ 1036 स्थान पर है वही आदित्य प्लूचा 950 वे  स्थान पर और उनकी कुल संपत्ति ₹120000000 है वे पहले फोर्ब्स पत्रिका के प्रभावशाली "30 अंडर 30 (एशिया सूची)" में ई-कॉमर्स श्रेणी में प्रदर्शित हुए थे। 

kevlu

दोनों युवा उद्यमी हुरून इंडिया फ्यूचर यूनिकॉर्न इंडेक्स 2022 में सबसे कम उम्र के स्टार्टअप संस्थापक भी है केवल्य  और अदित  को भारत में की सबसे अमीरों की सूची में शामिल करना देश के स्टार्टअप के बढ़ते प्रभाव को बढ़ाना है और उन इंडिया रिच लिस्ट में उल्लेख किया है कि एक किशोरी ने सूची में डेब्यू किया है सूची में सबसे कम उम्र के 19 वर्षीय केवल्य वोहरा है जिन्होंने जैपेटो की स्थापना की है 10 साल पहले यह 37 था और अब जब 19 साल है तो स्टार्टअप क्रांति के प्रभाव को दर्शाता है। 

kevlu

 वोहरा और पालीचा स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के छात्र थे उन्होंने बाद में अपने कंप्यूटर की पढ़ाई को छोड़कर बिजनेस में कदम बढ़ाया महामारी के दिनों में आवश्यक वस्तुओं को त्वरित और संपर्करहित  डिलीवरी की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए दोनों ने 2021 में' जेप्टो'  की शुरुआत की अदित पालीचा ने 17 साल की उम्र में अपने बिजनेस की यात्रा शुरू की जब उन्होंने 2018 में गोपुल के छात्रों के लिए एक कारपूल सेवा की स्थापना की दुबई में पले बढ़े बचपन के दो दोस्तों ने शुरुआत में स्टार्टअप 'किराना कार्ड 'लांच किया जो एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म था जो मुंबई में स्थानीय स्टोर से किराने का सामान पहुंच जाता था। 

kevlu

यह जून 2020 से मार्च 2021 तक चालू था फिर उन्होंने अप्रैल 2021 में  'जेप्टो'  को लांच किया फिर उन्होंने अप्रैल 2021 में Zepto को लॉन्च किया और नवंबर में शुरुआती फंडिंग राउंड में $60 मिलियन जुटाए. क्विक ग्रॉसरी डिलीवरी प्लेटफॉर्म ने भी दिसंबर में $570 मिलियन के मूल्यांकन पर $100 मिलियन जुटाए  Zepto ने अपने नवीनतम फंडिंग दौर में इस साल मई में $900 मिलियन के मूल्यांकन पर $200 मिलियन जुटाए।