Movie prime
घोड़े पर सवारी करने वाले डिलीवरी बॉय को ढूंढ निकाला स्विगी ने ,यहां जाने क्यों कर रहा था वो घोड़े पर फ़ूड डिलीवरी
 

ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी स्विगी के डिलीवरी बॉय  का एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह घोड़े पर डिलीवरी करते हुए नजर आ रहा है जिसके बाद स्विगी  ने इस डिलीवरी ब्वॉय की जानकारी लोगों से को शेयर करने के लिए कहा था वीडियो मुंबई का था जिसमें बारिश के मौसम में एक शख्स घोड़े पर सवार होकर फूड की डिलीवरी करते हुए दिखा था उसने अपनी पीठ पर स्विगी का बेग  टाँग रखा था डिलीवरी ब्वॉय का ये  खास अंदाज लोगों को काफी पसंद आया था और इसका घटना का यह वीडियो जमकर वायरल हुआ था। 

swiggy

 स्विगी  समेत इंटरनेट पर हर कोई घोड़े पर  सवारी करने वाले शख्स के बारे में जानने के लिएउत्शुक था इसके   लिए स्विगी ने ट्विटर पर उस शख्स के बारे में जानकारी देने वाले को ₹5000 का इनाम तक देने का ऐलान कर दिया था कंपनी ने बयान में कहा कि यह वीडियो , "यह वीर युवा स्टार कौन है? वह तूफान पर सवारी कर रहा है या बिजली पर? उस बैग में क्या है जिसे उसने अपनी पीठ पर बांधा है? वह बारिश में भी मुंबई की बिजी सड़क को पार करने के लिए इतना दृढ़ क्यों है? जब वह ऑर्डर देने गया तो उसने अपना घोड़ा कहां पार्क किया?

swiggy

स्विगी  ने उस शख्स को लेकर अपडेटदेते हुए बताया कि उन्होंने इस व्यक्ति की पहचान कर ली हैवह स्विगी का कर्मचारी या  डिलीवरी पार्टनर नहीं है फूड डिलीवरी कंपनी ने ट्विटर पर एक प्रश्न उत्तर प्रारूप में प्रेस विज्ञप्ति जारी की है इसमें सभी की शंकाओ को दूर किया गया है ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी ने स्पष्ट किया था कि वह सुशांत नाम का एक 17 वर्षीय किशोर है वह स्विगी का डिलीवरी बॉय नहीं है वर्तमान में वह मुंबई में घोड़े के अस्तबल में काम करता है कंपनी के मुताबिक जिस स्विगी  के लोगों वाला बैग उसने अपनी पीठ पर लाद रखा था उसमें घोड़े का सजाने का सामान था जो उसके दोस्त का था उसने अपने दोस्त से स्विगी का बैग लिया और उसे वापस करना भूल गया बैग का  खुद इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। 

swiigy

यह घोड़ा शादियों में जाता है कंपनी के अनुसार सुशांत  घोड़ों की देखभाल करता है उसके दोस्त अवि ने ही  यह  वीडियो बनाया था जिसमें वः भारी बारिश के बीच मुंबई की सड़क पर स्विगी का बैग पीठ पर लादे गुजर रहा था वही सुशांत   जिस घोड़े की सवारी कर रहा था उसका नाम  शिवा है  स्विगी ने बताया कि जिस ₹5000 का इनाम ऐलान किया गया था वह अवि को दे दिया गया जबकि कंपनी ने सुशांत को नया मोबाइल दिया था स्विगी  ने स्पष्ट किया कि भले ही वह भोजन पहुंचाने के लिए अधिक पर्यावरण के अनुकूल तरीके अपनाना चाहते हैं लेकिन वे पारंपरिक तरीकों जैसे घोड़े और खच्चरों  का उपयोग ट्रांसपोर्ट में नहीं करेंगे।