Movie prime
मलेरिया की ऐसी वेक्सीन हुयी तैयार देती है ,80 फीसदी ठीक होने की गारंटी
 

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से मलेरिया की नई वैक्सीन को दुनिया की सबसे प्रभावी व्यक्ति करार दिया जा रहा है बताया जा रहा है कि अगले साल तक ये वैक्सीन मार्केट में आ जाएगी ट्रायल्स के बाद खतरनाक मलेरिया से बचाव के मरीज को 80 फ़ीसदी तक सुरक्षा मिलने की बात की गई है वैज्ञानिकों के अनुसार यह वेक्सीन काफी काफी सस्ती है और हर साल इसकी 100 मिलियन डोज  तैयार करने की डील पहले ही हो चुकी है चैरिटी मलेरिया नो मोर की तरफ से बताया गया है इस वेक्सीन  को तैयार होना  बच्चों को मलेरिया से होने वाली मौतों से बचाना है। 

mleriya

साथ ही आप ये  मान सकते हैं कि मलेरिया को पूरी तरह से खत्म किया जा सकता है मलेरिया की प्रभावी दवाई को तैयार करने में एक सदी से ज्यादा का समय लगा है मच्छरों से फैलने वाली बीमारी बहुत ही जटिल मानी जाती है बीमारी शरीर के अंदर कई तरह के स्वरूप ले लेती है और इस वजह से  इसे बचना  को नामुमकिन माना गया था पिछले साल डब्ल्यूएचओ ने  जीएसके की तरफ से डेवलप पहली वैक्सीन को ऐतिहासिक तौर पर हरी झंडी दी थी इस वैक्सीन का प्रयोग अफ्रीका में हो रहा है लेकिन एक्सपोर्ट के वैज्ञानिकों का दावा है कि उनकी वैक्सीन ज्यादा प्रभावी है और इसे बड़े पैमाने पर तैयार किया जा सकता है। 

mleriya

 इसका ट्रायल में बुरकिना फासो के बच्चों पर किया गया था इसके नतीजे इनफेक्शियस हुए हैं इसे साफ नजर आता है कि शुरुआती तीन और एक के बूस्टर डोज के बाद 80 फ़ीसदी तक सुरक्षा मिलती है यूनिवर्सिटी में जेंडर इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर प्रोफेसर एड्रियन हिल का कहना है कि किसी भी मलेरिया वैक्सीन के लिए आंकड़ों में यह आंकड़े बेस्ट है टीम की तरफ से वैक्सीन के लिए मंजूरी लेने का काम अगले कुछ दिनों में शुरू हो जाएगा  प्रोफेसर हिल ने बताया कि इस वैक्सीन को r21 नाम दिया गया है और इसे सिर्फ कुछ डॉलर्स में ही तैयार किया गया जाएगा मगर अंतिम निर्णय इस साल के अंत में 4800 बच्‍चों पर होने वाले ट्रायल के बाद लिया जाएगा  दुनिया में सबसे बड़ी दवाई बनाने वाली कंपनी सिरम इंस्टीट्यूट ने पहले ही इस के 100 मिलियन डोज  तैयार करने के लिए हासिल कर ली है।