Movie prime
कही आपको कोई फास्टैग के नाम पर नकली स्टिकर तो नहीं चिपका गया ,ऐसे करे पता
 

हाईवे टोल प्लाजा पर रोड टैक्स लेने के लिए हम फास्टैग का इस्तेमाल करते हैं यह एक टोल टैक्स पेमेंट गेटवे है जिसके जरिए टैक्स का भुगतान किया जाता है आजकल फास्ट टैग  के जरिए टैक्स का भुगतान अनिवार्य कर दिया यह स्टिकर की तरह होता है जो जो गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगाया जाता है इस में दिए गए कोड को स्कैन करके टैक्स की रकम का भुगतान किया जाता है हालांकि इस बात की संभावना  है कि जब आप इसे  खरीदते हैं तो कोई नकली  स्टिकर दे दे। 

fasteg

 नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने इससे  सावधानी बरतने की चेतावनी दी है एनएचएआई ने के अनुसार कुछ जालसाजी नकली फास्टैग लोगों को बेच रहे हैं इसमें NHAI या IHMCLकी तरह दिखने वाले स्टीकर को फास्टैग  के रूप में लोगों को भेजा जा रहा है सामने से देखने पर इसके असली या नकली होने का पता नहीं लगाया जा सकता लेकिन यह असली नहीं होती इसलिए इस तरह के फ्रॉड से बचने के लिए कुछ जरूरी बातों पर ध्यान दें हमेशा असली फास्टैग  खरीदने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ही से खरीदे इसके लिए आपको www.ihmcl.co.in पर जाना होगा। 

fasteg

हालांकि आप माय फास्टैग एप से भी से खरीद सकते हैं अगर आप ऑनलाइन इसे खरीद नहीं सकते हैं तो लिस्टेड बैंक और ,बिक्री एजेंटों के रजिस्टर्ड सेलपॉइंट से भी इसे खरीद सकते हैं जानकारी के लिए बता दे कि नकली फास्ट खरीदने पर पैसे का भुगतान करने के बाद भी आप टोल प्लाजा को क्रॉस नहीं कर सकते हैं ।

fasteg 

अगर आप पहली बार फास्टैग  खरीदते हैं तो इसके लिए आपको इसमें ₹200 की वन टाइम फीस ₹100 का पुनः निर्धारित फीस और ₹200 की एक रिफंडेबल सिक्योरिटी डिपॉजिट है इसके अलावा पेटीएम ऐप के जरिए भी इसको  को रिचार्ज किया जा सकता है अगर आपको किसी ने ने नकली फास्टैग बेचा  है या कहीं पर आपको नकली फास्टटैग  मिलता है तो इसकी शिकायत करने के लिए एनएचएआई ने हेल्पलाइन नंबर 1033 जारी किया है इसके अलावा इस etc.noida@ihmcl.com पर भी इसकी जानकारी दे सकते हैं।