Movie prime
भारत में घटने लगी है गरीबी की दर ,यहां जाने क्या बताया वर्ल्ड बैंक ने इसका कारन
 

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत में अधिक गरीबी तेजी से घट रही है वर्ल्ड बैंक की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में अत्यंत गरीबों की संख्या काफी घटी है साल 2011 से 2019 के बीच गरीबों की संख्या में 12 . 3 फ़ीसदी की कमी आई है और इस मामले में शहरी केंद्रों के मुकाबले ग्रामीण क्षेत्रों का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। 

ui

इकोनॉमिस्ट्स सुतीर्थ सिन्हा रॉय द्वारा तैयार इस दस्तावेज में कहा गया है कि देश ने एक दशक से अधिक समय से गरीबी और समानता का कोई आधिकारिक आधिकारिक अनुमान जारी नहीं किया है परिवारों के उपभोग पर आधारित सर्वे एनएसएस ने 2011 में जारी किया था इससे पहले आईएमएफ के दस्तावेज ने भी कहा गया था कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना  महामारी से प्रभावित 2020 में अति गरीबी को 0 .8 फ़ीसदी के निचले स्तर पर बरकरार रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ह। 

yu

 इस योजना के तहत गरीबों को राशन की दुकानों से मुफ्त अनाज दिया जा रहा है भारत में गरीबी पिछले दशक में कुछ कम हुई है लेकिन सोच के मुकाबले कम शीर्षक से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों में गरीबी की दर में कमी शहरी क्षेत्रों के मुकाबले अधिक हैलेखकों के अनुसार नोटबंदी के दौरान शहरों में गरीबी 2016 में 2 फ़ीसदी बढ़ी लेकिन उसके बाद उस में तेजी से कमी आई गांव में गरीबी 2019 में जीरो पॉइंट 1 फ़ीसदी बढ़ी जिसके कारण संभवत आर्थिक वृद्धि में नरमी है। 

yu

लेखकों  ने यह भी कहा है कि उनके विश्लेषण में खपत के मामले में असमानता बढ़ने का कोई सबूत नहीं है रिपोर्ट के अनुसार छोटे जोत वाले किसानों की आय में वृद्धि ज्यादा हुई है दो सर्वेक्षण दौर के बीच इन किसानों की वास्तविक आय सालाना आधार पर 10 फीसदी बढ़ी वही बड़े जोत वाले किसानों की आय में 2 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है इसमें यह भी कहा गया कि गांव में जिस परिवार के पास  छोटे खेत हैं उन्हें अन्य के मुकाबले गरीब होने की आशंका अधिक ह।