Movie prime
OMG :नुपर समर्थको के बहाने पाक ने रच डाली थी ये साजिश ,40 लोगो की टीम ढूंढ -ढूंढ़ कर मर रही थी नूपुर समर्थको को
 

बीजेपी के पूर्व प्रवक्ता   नूपुर शर्मा के पैगम्बर  मोहम्मद को लेकर दिए गए बयान से  पूरा देश दो हिस्सों में बट गया था जिसमें एक हिस्सा उनके बयान का समर्थन कर रहा था तो दूसरा हिस्सा उनके बयान  की आलोचना कर रहा था  इसी बयान के बाद नफरत की आग इस तरह फैली कि आतंकी भी इस विवाद को अपने नापाक मंसूबों को पूरा करने के लिए नूपुर समर्थकों को निशाना बनाने की साजिश रचने लगे । 

davt

दरअसल एक जानकारी सामने आई है जो काफी चौकाने वाली है नूपुर  के बयान के बाद राजस्थान के उदयपुर में केवल कन्हैयालाल ही निशाने पर नहीं थे बल्कि पाकिस्तानी संगठन  दावत-ए-इस्लामी और आतंकियों ने राजस्थान के 40 लोगों की टीम को तैयार कर लिया था इस टीम का काम नूपुर  के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वालों को निशाना बनाना था यह 40 लोगों की टीम नूपुर के समर्थकों को सिर कलम करने के लिए तैयार थी एनआईए और एटीएस की शुरुआती जांच में इस बात का खुलासा हुआ है। 

atnki

 दावत-ए-इस्लामी से जुड़े छह जिलों के लोगों को ये टारगेट दिया गया था कि नूपुर के समर्थन में पोस्ट करने वालों को सबक सिखाएं यह लोग 1 साल से ज्यादा समय से  दावत-ए-इस्लामी संगठन से जुड़े थे इस बात का खुलासा आतंकी रियाज अत्तारी और गौस मोहम्मद की कॉल डिटेल से हुआ है। 

atnki

 इसमें पाकिस्तान के 10 लोगों के 20 मोबाइल नंबर की जांच की गई, जिसमें चौंकाने वाली बातें सामने आईं इन लोगों को टारगेट मिला था जिस तरह से तालिबान में सिर कलम कर के वीडियो वायरल किया जाता है उसी तरह से भारत में भी ऐसी ही दहशतफैलाई जाये एनआईए की जांच में ये भी सामने आया कि अजमेर में आपत्तिजनक धार्मिक किताबें बिक रही हैं। दावत-ए-इस्लामी ने ही ये किताबें बेचने के लिए यहां दुकानें खोली थीं। वह एक बुक सेलर को रोज 350 रुपए की रिश्वत देते थे  रियाज और गौस यहीं से लोगों को किताबें बांटते थे।