Movie prime
अब 10 से 15 साल पुरानी गाड़ियों के कबाड़ को मैनेज करने के लिए सरकार ने उठाया ये कदम
 

10 साल पुराने डीजल व्हीकल और 15 साल पुराने पेट्रोल व्हीकल को मेट्रो सिटीज में बैन करने के बाद अब सरकार उनके कबाड़ को भी ठिकाने लगाने की योजना पर काम कर रही है इसके लिए कबाड़ केंद्र खोलने की योजना बनाई जा रही है। 

kabad

इस संबंध में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री  नितिन गडकरी ने जानकारी दी है केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि देश के हर जिले में कम से कम तीन रजिस्टर्ड वाहन कबाड़ सेंटर खोलने की योजना है उन्होंने कहा एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि सड़क मंत्रालय को रोपवे केबल ,कार और फर्नीचर रेलवे के लिए 206 प्रस्ताव मिले हैं और उन पर काम किया जा रहा है। 

kabad

 नितिन गडकरी ने यह भी कहा कि पूरे देश में पुरानी डीजल और पेट्रोल से होने  वाले पॉल्यूशन को  कम करने के लिए 10 साल पुरानी डीजल और पेट्रोल गाड़ियों को फिलहाल मेट्रो सिटीज में बैन किया गया है आने वाले समय में अन्य शहरों में भी यह नियम लागू कर दिए जाएंगे ऐसा कब होगा इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि अनुपयुक्त और पॉल्यूशन खत्म करने की स्टेज पर काम किया जा रहा है इससे संसाधनों के अनुकूल उपयोग वाली अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। 

kabad

इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार जल्द ही हर जिले में तीन रजिस्टर्ड वाहन कार्ड सुविधा केंद्र खोल सकती है उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगस्त 2021 में इसकी  शुरुआत की थी इन केंद्रों में पुराने वाहन मालिक अपने वाहनों को जमा करवा सकते हैं और उनके वाहन के अनुसार उन्हें राशि भी दी जाएगी साथ ही उनके वाहन के कबाड़ होने के साथ संबंध में रसीद भी मिलेगी।