Movie prime
2024 में मोदी से पीएम की कुर्सी छीनने का लिए विपक्ष को एकजुट करना चाहते है नितीश कुमार ,बनाया ये प्लान
 

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए विपक्षी दल अभी  से पूरी तैयारियों में जुट गए हैं इसी क्रम में हाल ही में भाजपा से अलग हुए  जदयू के मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार काफी सक्रिय दिख रहे हैं उन्होंने कहा कि भाजपा को हराने के लिए सभी विपक्षी दलों को एक साथ आना होगा। 

nitis

 नीतीश कुमार ने जदयू की राज्य कार्यकारिणी बैठक को संबोधित करते हुए कहा है कि संयुक्त विपक्ष सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को हरा देगा उन्होंने कहा था कि 2024 में लोकसभा चुनाव में भाजपा को विपक्ष लगभग 50 सीटों पर समेट देगा नीतीश कुमार ने कहा था कि अगर सभी विपक्षी दल एक साथ आ जाए तो भाजपा की हार निश्चित है इतना ही नहीं विपक्ष के मजबूत एकजुटता भाजपा को 50 सीटों पर ही समेट सकती है  मैं सिर्फ इतना कह रहा हूं कि अगर सभी एकजुट हो जाए तो हमें बड़ी सफलता मिलेगी मैं किसी संख्या की बात नहीं कर रहा हूं। 

nitish

एक आधिकारिक बयान में नीतीश कुमार ने 2020 के विधानसभा चुनाव में भाजपा की साजिश पर जदयू  की हार को जिम्मेदार ठहराया और कार्यालय में एक और कार्यकाल के लिए जारी रखने के लिए अपनी खुद की अनिच्छा को याद किया नितीश कुमार ने कहा कि अगर सभी विपक्षी दल एक साथ लड़ते हैं तो भाजपा को लगभग 50 सीटों पर समेट दिया जाएगा मैं इस अभियान के लिए खुद को समर्पित कर रहा हूं भाजपा राज्य में सामाजिक और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ने की कोशिश करेगी लेकिन हमें सतर्क रहकर उनके पैटर्न को पंचायतों के स्तर तक विफल करना होगा। 

nitish

 जदयू के दिग्गज नीतीश कुमार ने हाल ही में भगवा पार्टी से नाता तोड़ लिया था उन्होंने भाजपा से नाता तोड़ने की बात पर कहा कि अगर विपक्षी दल एकजुट होते हैं तो 2024 में तस्वीर अलग होगी बैठक में कहा कि मणिपुर जदयू के सभी छह विधायक बैठक के लिए आने वाले थे और कुछ दिन पहले तक तैयार भी थे लेकिन अचानक से भाजपा में शामिल हो गए उन्होंने भाजपा के आचरण पर सवाल उठाते हुए कहा क्या यह सवैंधानिक  तरीका है यह सभी कुछ महीने पहले बिहार आए थे लोग बीजेपी के व्यवहार को देख रहे हैं यह किस तरह का दृष्टिकोण है इसका मतलब है कि कोई विपक्ष नहीं चाहते हैं।

nitish 

आपको बता दें कि नीतीश कुमार के 5 सितंबर से दिल्ली आने और कांग्रेस के राहुल गांधी सहित कई विपक्षी नेताओं से मिलने की संभावना है ताकि उन्हें 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा से लड़ने के लिए एक साथ लाया जा सके 2024 में लोकसभा के आम चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी और जदयू नेता नीतीश कुमार आमने-सामने हो सकते हैं।