Movie prime
लगातर ले रहे है सरकारी नौकरी में छुट्टी तो जा सकती है नौकरी ,यहां जाने सरकार के नए नियम
 

प्राइवेट सेक्टर की बजाय  सरकारी कर्मचारी को ज्यादा छुट्टियां मिलती है। कई सरकारी कर्मचारी भी छुट्टियों को लेकर कन्फ्यूजन करते हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों की विभिन्न श्रेणी के लिए छुट्टी नियम और पात्रता पर कुछ पूछे जाने वाले प्रश्न एफएक्यू (Frequently Asked Questions)  जारी किया है इसे छुट्टियों से जुड़े नियम के बारे में जान सकते हैं। कर्मचारी यह भी पता लगा सकते हैं कि लगातार कितने दिन छुट्टी करने पर सरकारी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है आज हम आपको सरकारी छुट्टियों से जुड़े नियम के बारे में बताते हैं। 

nokri

केंद्र सरकार ने जारी किया एफएक्यू   

एफएक्यू में अवकाश की समान्य पात्रता ,अवकाश रियायतएलटीसी के साथ अवकाश नकदीकरण ,अर्जित अवकाश का नकदीकरण, निलंबन बर्खास्तगी हटाने पर अवकाश का नकदीकरण ,अवकाश नकदीकरण पर ब्याज ,स्टडी लीव अध्ययन अवकाश और पितृत्व अवकाश से जुड़े सवालों के बारे में स्पष्ट किया गया है। 

nokri


लगातार 5 सालों तक नहीं मिलेगी छुट्टी।


केंद्रीय सिविल सेवा या सीसीएस अवकाश नियम 1972 के नियम 12(1)का हवाला देते हुए कहा है कि किसी भी सरकारी कर्मचारी को लगातार पांच  साल की अवधि के लिए किसी भी प्रकार की कोई छुट्टी नहीं दी जाएगी आमतौर पर विदेश सेवा के अलावा 5 साल से अधिक की निरंतर अवधि के लिए अवकाश या बिना अवकाश की ड्यूटी से अनुपस्थित रहने का अर्थ है कि ऐसे सरकारी कर्मचारी ने सरकारी सेवा से इस्तीफा दे दिया है। एफएक्यू  ने  कहा है कि कर्मचारियों को लीव इनकैशमेंट की अनुमति पहले लेनी पड़ती है जो एलटीसी के साथ लेना सही रहेगा  हालांकि कुछ मामलों में तय समय के बाद भी लीव इनकैशमेंट किया जा सकता है। 

nokri


सिर्फ महिलाओं को मिलती है यह छुट्टियां 


बच्चों की देखभाल के लिए केवल महिलाओं को ही केयर चाइल्ड लीव मिलती है यदि बच्चा विदेश में पढ़ाई कर रहा है या उसकी देखभाल के लिए विदेश जाने की जरूरत है तो कुछ जरूरी प्रक्रिया के बाद छुट्टी दी जा सकती है।