Movie prime
पाकिस्तान में इतिहास की सबसे बड़ी बाढ़ ने ढाया कहर ,देश में पानी में डूब गया सब कुछ
 

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी की सेटेलाइट इमेज के अनुसार पाकिस्तान इतिहास की सबसे भयंकर बाढ़ से जूझ रहा है नतीजा में वहां का एक तिहाई हिस्सा जलमग्न हो चुका है बाढ़ के पानी से बीमारी फैलने का खतरा है वही भोजन की आपूर्ति भी कम हो रही है क्योंकि पानी ने लाखो एकड़ की फसलों को नष्ट कर दिया 30 अगस्त को ईएसए की इमेज के अनुसार ,मूसलाधार  मानसून वर्षा से सामान्य से ज्यादा हो गई जिसकी वजह से सिंधु नदी का तेज परवाह   चलते 10 किलोमीटर चौड़ी एक लंबी झील का निर्माण हो गया पाकिस्तान इस बाढ़ की वजह से दोहरे भोजन और स्वास्थ्य संकट का भी सामना कर रहा है एक रिपोर्ट के अनुसार देश के 27 मिलियन लोगों के पास बाढ़ से पहले पर्याप्त भोजन नहीं था और बाढ़ के बाद और स्थिति खतरनाक हो गई है। 

badh

 यूनाइटेड किंगडम स्थिति सहायता गठबंधन आपदा आपत्कालीन समिति के मुख्य कार्यकारी  सालेह सईद ने कहा अभी हमारी प्राथमिकता जीवन को बचाना और मदद करना है क्योंकि पानी लगातार बढ़ रहा है फसलें भी नष्ट हो गई है और देश के कई क्षेत्रों में पशु मारे गए हैं इससे भूख की समस्या और गंभीर हो गई है पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शरीफ ने 30 अगस्त को कहा था कि लोग भोजन की कमी का सामना कर रहे हैं और प्याज और टमाटर जैसी बुनियादी वस्तुओं की कीमत आसमान छू रही है मुझे अपने लोगों को खाना खिलाना है उनका पेट खाली नहीं रख सकता। 

baadh

डब्ल्यूएचओ ने रिकॉर्ड पर पाकिस्तान की सबसे खराब बाढ़ को "उच्चतम स्तर" की आपात स्थिति के रूप में वर्गीकृत किया है,जिसमें चिकित्सा सहायता की कमी के कारण बीमारी की तेजी से फैलने की चेतावनी है पाकिस्तान के मौसम विभाग के अनुसार पाकिस्तान का मौसम आमतौर पर भारी बारिश लाता है लेकिन 1961 में रिकॉर्ड शुरू होने के बाद से यह साल सबसे अधिक बारिश वाला रहा है एक रिपोर्ट के अनुसार दक्षिणी सिंध और बलूचिस्तान प्रांत में 30 अगस्त तक खुद से 500% अधिक बारिश हुई है जिसने गांव और खेतों को जलमग्न कर दिया यहां तक इमारतों को तबाह कर दिया और फसलें नष्ट हो गई।