Movie prime
डोरेमोन कार्टून को मिली हुयी जापान की नागरिकता ,यहां जाने क्यों मनाया सरकार ने जन्म के 100 पहले ही डोरेमोन का जन्मदिन
 

डोरेमोन एक ऐसा कार्टून है जो हर बच्चे को पसंद है डोरेमोन एक छोटी सी रोबोटिक बिल्ली जिसका कब्जा भारत के हर घर पर टीवी पर है देखने में तो इतनी छोटी सी बिल्ली है लेकिन इसकी असल उम्र पूरी 54 साल है डोरेमोन को 1969 में बनाया गया था दिलचस्प बात यह है कि डोरेमोन का जन्म असल में  2112 में होगा यह फिलहाल फ्यूचर  से नोबिता की जिंदगी आसान बनाने आया है डोरेमोन जितना टीवी पर दीखता है  उससे कहीं ज्यादा पावरफुल है  इस फ्रेंचाइजी की 41 फीचर फिल्म्स, 2 स्पेशल फिल्म्स, 15 शॉर्ट फिल्म्स समेत कई छोटी-मोटी फिल्में बनती रही हैं। 

doremon

 2012 में जापान सरकार ने डोरेमोन के जन्म के 100 साल पहले ही उसका बर्थडे सेलिब्रेट किया इस एलिवेशन के साथ ही सरकार ने डोरेमोन को जापान के कावासाकी शहर का ऑफिशियल रेसिडेंट भी बताया संभव है एक कार्टून कैरेक्टर को किसी भी देश की नागरिकता मिलने की यह पहली घटना थी इसकी पॉपुलेरिटी  का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि इसकी फिल्मों ने दुनिया में अब तक 13 हजार करोड़ की कमाई की है और रॉयल्टी से इसकी कमाई 33000 करोड रुपए की है 3 सितंबर का ही वह दिन था जब डोरेमोन बना इस दिन इस करैक्टर का बर्थडे माना जाता है। 

doremon

भारत में डोरेमोन को 48 करोड़ लोग देखते हैं जिनमें बच्चे और बड़े शामिल हैं  डोरेमोन एक  जापानी फिक्शनल कैरक्टर है जिसे राइटर फुजीको एफ फुजियो ने तो पूरी तैयार किया था राइटर  फुजियो अपनी  मैगजीन के लिए कुछ नया करना चाहते थे  इसके लिए आइडिया की तलाश कर रहेथे तभी उन्होंने  नहीं सोचा कि काश उनके पास कोई ऐसी मशीन होती जो उनकी हर परेशानी का हल निकाल सकती यह सोचते हुए वह बेटी के खिलौनों में टकरकर से गिर गए  और उन्हें पड़ोस की बिल्लियों की लड़ने  की आवाज सुनाई दी इन तीनों घटनाओं को मिलाकर उन्हें एक बिल्ली का कैरेक्टर बनाने का आईडिया जिसके  पास एडवांस गैजेट था साल 2005 में डिज्नी इंडिया के हंगामा टीवी चैनल में डोरेमोन को प्रसारित किया गयादर्शकों ने शो को खूब प्यार दिया और ये एवरग्रीन कार्टून बन गया। बढ़ती पॉपुलैरिटी को देखते हुए इसे हंगामा टीवी के अलावा डिज्नी चैनल पर भी प्रसारित किया जाने लगा।