Movie prime
नामीबिया से भारत आये चीते भारतीय माहौल में दिखे थोड़े नर्वस ,यहां जाने क्यों
 

कूनो नेशनल पार्क के नामीबिया से लाए गए  चीतों  को 24   घंटे से ज्यादा हो चुके हैं पार्क प्रबंधन का कहना है कि रिलीज के बाद नया  परिवेश देख कर चीते  थोड़े से घबराए हुए दिखे लेकिन धीरे-धीरे उन्हें यहां एडजस्ट करना शुरू कर दिया है पहले दिन अपने आप को नए परिवेश में देख कर  चीते थोड़ा नर्वस है लेकिन उनका व्यवहार सामान्य और सकारात्मक दिख रहा है। 

chite

चीतों  के लिए जो विशेष बाड़ा बनाया गया है वह उस में घूम रहे हैं चीतों  के सभी वाइटल पैरामीटर सामान है सभी 8 चीतों  ने अपनी नींद अच्छी तरह से पूरी की है  चीतों को आज खाने के लिए विशेष बाड़े में ही उनके गोश्त दिया गया फिलहाल पार्क प्रबंधन चीतों के आचरण और व्यवहार से पूरी तरह से संतुष्ट है उनका कहना है कि चीतों  के वाइटल पैरामीटर सामान्य है हमारी नजर लगातार चीतों  पर बनी हुई है फिलहाल सब कुछ सामान्य है। 

chite

आपको जानकारी के लिए बता दें कि शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने जन्मदिन के मौके पर देशवासियों को चीतों का गिफ्ट दिया था देश की धरती पर 74 साल बाद एक बार फिर से चीते  नजर आ रहे हैं साल 1952 में देश में चीतों  को विलुप्त घोषित कर दिया गया था लेकिन अब फिर देश की धरती पर चीते  दौड़ते हुए नजर आएंगे रखवाली के लिए गांव के सारे 400 से ज्यादा लोगों को 'चिता मित्र 'बनाया गया है इनका काम शिकारियों से चीतों  को बचाना है। 
chite

पीएम मोदी मित्रों से मुलाकात के दौरान कहा था बताया गया है कि थोड़े दिनों तक को देखने के लिए आना नहीं है उसने होगा फिर वह बड़ी जगह पर जाएगा वहां कुछ दिन सेटल होने देना है सबसे बड़ी समस्या नेता लोग करेंगे ,सब नेता लोग आ जाएंगे, नेता के रिश्तेदार आएंगे, टीवी कैमरा वाले भी आएंगे वह होता है ना सबसे पहले ब्रेकिंग न्यूज़ वाले वह आप पर दबाव डालेंगे ,अफसरों पर दबाव डालेंगे ,फिलहाल इन चीतों को 12 किलोमीटर क्षेत्र में तैयार किए गए बाड़े  में रखा गया है जब सभी मादा और नर चीते आपस में घुल मिल जाएंगे तब उन्हें बाड़े से बाहर छोड़ा जाएगा चीते हमेशा झुंड में रहना पसंद करते हैं।