Movie prime
बिसलेरी हो सकती है टाटा की ,4 लाख में शुरू हुयी कम्पनी बिकेगी 7 हजार करोड़ रूपये
 

सॉफ्ट ड्रिंक ब्रांड थम्सअप ,गोल्ड स्पॉटऔर लिम्का को कोको कोला को बेचने की लगभग तीन दशक बाद रमेश चौहान बिसलेरी इंटरनेशनल को बेचने जा रहे हैं। इकोनामिक टाइम्स ने इसे लेकर एक रिपोर्ट पब्लिश्ड  की है। रिपोर्ट के अनुसार टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड बिसलेरी  6 ऐसे 7000 करोड रुपए में खरीद रहा है। हालांकि इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद एक न्यूज़ एजेंसी ने बिसलेरी के चेयरमैन रमेश चौहान से बात की और चौहान ने कहा कि वह अपने पैकेज्ड पानी के कारोबार के लिए खरीदार की तलाश कर रहे है और टाटा कंज्यूमर सहित कई प्लेयर से बात भी कर रहे हैं। टाटा के 7000 करोड़ की डील अभी फाइनल नहीं हुई है। 

bisleri

82 साल के चौहान का कहना है कि के विस्तार के लिए उनके पास कोई उत्तराधिकारी नहीं है

82 साल के चौहान का कहना है कि के विस्तार के लिए उनके पास कोई उत्तराधिकारी नहीं है उनकी बेटी कारोबार में ज्यादा दिलचस्पी नहीं रखती है। बिसलेरी  भारत की सबसे बड़ी पैकेज्ड कंपनी है डील के तहत वर्तमान मैनेजमेंट दो साल तक जारी रहेगा।इससे पहले एक रिपोर्ट में बताया गया है कि चौहान ने कहा है कि टाटा ग्रुप मेरे  बिजनेस की और भी तरीके से बेहतर देखभाल कर सकेगा। मुझे टाटा का कल्चर पसंद है इसलिए अन्य खरीदारों के बावजूद मैंने टाटा को चुना  कहा जाता है कि बिसलेरी को खरीदने के लिए रिलायंस रिटेल ,नेस्ले और डेनोन  सहित कई दावेदार थे। चौहान ने कहा कि बिसलेरी में माइनॉरिटी स्टेक भी नहीं रखेंगे उन्होंने कहा कि बिजनेस को बेचने के बाद उन्हें कंपनी में माइनॉरिटी स्टेक होल्डर करने का कोई कारण नजर नहीं आता है। 

bileri

बोतलबंद पानी के कारोबार से बाहर निकलने के बाद में वाटर हार्वेस्टिंग ,प्लास्टिक रीसाइकलिंग जैसे पर्यावरण और चैरिटी से जुड़े कामों पर फोकस  करना चाहते हैं

उन्होंने बताया कि बोतलबंद पानी के कारोबार से बाहर निकलने के बाद में वाटर हार्वेस्टिंग ,प्लास्टिक रीसाइकलिंग जैसे पर्यावरण और चैरिटी से जुड़े कामों पर फोकस  करना चाहते हैं। मिनरल वाटर ब्रांड बिसलेरी को भारत में पॉपुलर बनाने वाले रमेश चौहान का जन्म 17 जून 1940 को जयंतीलाल और जया चौहान के यहां मुंबई में हुआ था। उनके दोस्त ने आरजीसी के नाम से बुलाते थे उन्होंने मैकेनिक इंजीनियर और बिजनेस मैनेजमेंट किया।  हमेशा अपने समय से आगे रहने के लिए जाने वाले चौहान ने 27 साल की उम्र में भारतीय मार्केट में बोतलबंद मिनरल वाटर पेश किया था। पारले एक्सपोर्ट्स ने 1969 में इटली के एक बिजनेसमैन से बिसलेरी को खरीदा था और भारत में मिनरल वाटर बेचना शुरू किया था। 50 साल से ज्यादा के करियर में चौहान ने बिसलेरी को मिनरल वाटर का भारत का टॉप ब्रांड बना दिया। चौहान ने प्रीमियम नेचुरल मिनरल वाटर ब्रांड वेदिका भी बनाया है। इसके अलावा थम्सअप, गोल्ड स्पॉट, सिट्रा, माजा और लिम्का जैसे कई ब्रांड को बनाने वाले भी चौहान ही हैं।