Movie prime
लोन लेने से पहले चेक कर ले अपना सिबिल स्कोर ,नहीं तो नहीं मिलेगा लोन
 

आज के समय में अपना घर बनाना हर किसी का सपना होता है लेकिन घर बनाना हो या  कारोबार शुरूकरने के लिए लोन   की जरूरत पड़  जाती है अगर आप छोटा या  बड़ा लोन लेने की मन बना रहे हैं तो और चाहते हैं कि बैंक बिना ना  परेशानी के  आसानी से फायदे की दरों पर लोन दे दे  तो आपके लिए सिविल स्कोर को समझना बेहद जरूरी है क्योंकि कोई भी बैंक लोन देने के लिए सिविल स्कोर जरूर चेक करते हैं और इसी आधार पर लोन देते है। 

lomn

  आजकल  लोन लेने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है ऐसे में जरूरी है कि आप अपने सिबिल स्कोर की अहमियत को अच्छी तरह से समझे  और अगर आपका सिबिल  कमजोर है तो इस तरह के उपाय करे की  मजबूत बनाया जा सके दरअसल दरअसल, बैंक हमेशा व्यक्ति का सिबिल स्कोर चेक कर के ही लोन अप्रूव (Approve) करते हैं. सिबिल स्कोर को क्रेडिट स्कोर (Credit Score) के नाम से भी जाना जाता है बैंक दरअसल क्रेडिट स्कोर की मदद से ये देखते है की आप समय पर लोन चूकते है या नहीं   यानी इसके साथ ही ये भी चेक करते है की क्या व्यक्ति ने किसी लोन का पेमेंट पर डिफॉल्ट किया या नहीं। 

loan

लोन मांगने वाले व्यक्ति के बारे में पूरी की पूरी जानकारी बैंकों को उसकी सिबिल स्कोर के आधार पर ही पता चल जाती है बैंकों ने सिबिल स्कोर  के मानक तय की हैं इनके आधार पर इसका 750 से ऊपर होना आपको कम ब्याज दर पर लोन दिलाने में मददगार साबित हो सकता है आपका सिबिल स्कोरबेहतर तभी होगा जब आपकी क्रेडिट हिस्ट्री अच्छी होगी इसलिए जरूरी है कि आप पहले लिए गए कर्ज या फिर क्रेडिट कार्ड बिल का पूरा भुगतान सही समय पर करें। 

loan

अगर आप किसी लोन की ईएमआई चुकाने में चूक करते हैं फिर कोई बिल पेडिंग   रहता है तो इसका असर आपके सिबिल स्कोर पर होता है इसके आप का स्कोर कम हो जाता है अगर आपको क्रेडिट कार्ड से खर्च करते हैं आप बिल समय पर नहीं चूकते है तो  भी सिबिल  पर बुरा असर होता है क्रेडिट की जांच करने वाली कंपनियां किसी पेमेंट को डिफॉल्ट रहने पर आप का स्कोर कम कर देती है इसको खराब होने पर भविष्य में लोन लेने में दिक्कत हो सकती है।