Movie prime
बीजेपी ने शुरू कर दी विधानसभा चुनावो की कमर कस तैयारी ,पीएम मोदी के आलावा कोई नहीं है बीजेपी का स्टार चेहरा
 

आगामी चुनाव को लेकर भाजपा ने अपनी कमर कस ली है 2023 तक होने वाले सभी विधानसभा चुनाव एक सामूहिक नेतृत्व में लड़े जाएंगे रणनीति के अनुसार किसी भी राज्य में मुख्यमंत्री का नाम प्रोजेक्ट नहीं होगा हालांकि मौजूदा मुख्यमंत्री को चुनाव जीतने के बाद भी सीएम बने रहने का मौका मिल सकता है इस साल के आखिर में गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव है जबकि अगले साल कर्नाटक, त्रिपुरा ,मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव होने हैं। 

modi

हिमाचल, गुजरात और मध्य प्रदेश में भाजपा की सरकार है पिछले दिनों संसदीय बोर्ड के पुनर्गठन के बाद नेताओं ने इस बात पर सहमति बनी कि सत्तारूढ़ राज्य के नेतृत्व को लेकर सत्ता विरोधी रुझान है संगठन स्तर पर आपसी तालमेल की कमी है ऐसे में मौजूदा मुख्यमंत्रियों के नेतृत्व में चुनाव लड़ने की जरूरत है एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने बताया कि मौजूदा मुख्यमंत्रियों की भी यही राय है कि विधानसभा चुनाव में सिर्फ पीएम चेहरा होना चाहिए। 

mohp

केंद्र की योजनाओं को सत्तारूढ़ राज्य सरकार की तरफ से बेहतर डिलीवरी का निर्णय सेट करना चाहिए राज्य के मतदाताओं को यह संदेश देना चाहिए मोदी के नेतृत्व में डबल इंजन सरकार बेस्ट चॉइस है पार्टी के महासचिव ने कहा कि सामूहिक नेतृत्व का मतलब यह नहीं है कि सत्ता आने पर सीएम बदला जाएगा हो सकता है कि मौजूदा सीएम को दोबारा मौका दिया जाए जैसे गोवा या उत्तराखंड में हुआ। 

mohp

जिन राज्यों में भी भाजपा  विपक्ष में है वहां भी वह पार्टी मोदी के चेहरे के साथ सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी पार्टी सूत्रों का कहना है कि पार्टी का आंतरिक सर्वे में कोई मौजूदा सीएम ऐसा नहीं है जिसकी लोकप्रियता 25 फ़ीसदी से ऊपर हो जबकि पीएम मोदी की लोकप्रियता का ग्राफ 75 फीसदी  से ऊपर है ऐसे में पार्टी किसी भी मौजूदा सीएम को अपना प्रोजेक्ट चेहरा बनाकर कोई रिस्क नहीं लेना चाहती।