Movie prime
बिहार में खुद की सत्ता जमाने के लिए भाजपा ने बनाली रणनीति ,यहां जाने बीजेपी की सारी प्लानिंग
 

नीतीश कुमार के एनडीए से अलग होने के बाद भाजपा बिहार में अपनी रणनीति को नए सिरे से तैयार कर रही है एक तरफ भाजपा नीतीश के झटके से सत्ता से बाहर हो गई है वहां ही वह अपने दम पर ही विस्तार करने के मौके के तौर पर भी देख रही यही वजह है कि पार्टी के बड़े नेताओं ने बिहार पर फोकस बढ़ा दिया है अमित शाह ने भी बिहार में कई दौरों   प्लान बनाया है वही बड़े नेताओं ने भी कमर कस ली है। 

ameet

खासतौर पर सीमांचल इलाके पर भी भाजपा काफी फोकस कर रही है  यहां ध्रुवीकरण  की संभावना ज्यादा है भाजपा ने यूपी और झारखंड की तरह ही बिहार में भी अपने दम पर आगे बढ़ने की रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है अमित शाह 23 सितंबर को बिहार के दौरे पर आने वाले हैं उससे पहले  ‘Modi@20’ की लॉन्चिंग के मौके पर 18 सितंबर स्मृति ईरानी भी पटना आ रही है भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि स्मृति ईरानी का दौरा अलग है जबकि अमित शाह भाजपा की जनसंपर्क अभियान के तहत आ रहे हैं। 

ameet

इस दौरान सीमांचल में कई प्रोग्राम तय किए गए थे अब उसके आगे की योजनाओं पर भी काम हो रहा है यदि कुछ लोग हर चीज को जाति और धर्म के एंगल से देखना चाहते हैं तो फिर हम क्या कर सकते हैं हमारा काम नहीं रुकेगा जयसवाल ने कहा कि 17 सितंबर को पीएम नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है उसके बाद से 15 दिनों तक भाजपा सेवा सप्ताह का आयोजन करेगी इस दौरान कार्यकर्ता सभी लोगों से मुलाकात करेंगे और जनसंपर्क किया जाएगा आपको बता दें कि पिछले साल खुद सीएम नीतीश कुमार ने पीएम मोदी के जन्मदिन के मौके पर एक ही दिन में 3000000 को वेक्सिनेशन लगाने का आह्वान किया था और एक वेक्सीन सेंटर में नीतीश कुमार खुद ही गए थे।