Movie prime
आफताब ने कोर्ट में वसूला अपना गुनाह ,लेकिन कोर्ट में क्यों नहीं है इसका कोई मतलब
 

श्रद्धा वाकर मर्डर केस की जांच कर रही दिल्ली पुलिस के सामने एक बड़ी मुश्किल आ गई है। श्रद्धा के  लिव-इन पार्टनर और हत्यारे  आफताब  अमीन पूनावाला ने  वीडियो कांफ्रेंस के जरिए साकेत कोर्ट में पेश किया गया। यहां आफताब ने श्रद्धा को मारने और लाश के टुकड़े  करके ठिकाने खाने लगाने की बात कबूल तो कर ली। लेकिन इससे सबूत के तौर पर आफताब के खिलाफ इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा। 

aftab

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आफताब ने कोर्ट में मर्डर की बात कबूल ली जिसमे उसने  कहा कि उसने उकसावे और गुस्से में श्रद्धा का मर्डर किया

दरअसल आफताब पूनावाला का यह शुरुआती कबूलनामा मजिस्ट्रेट के सामने नहीं हुआ और स्वीकार्य सबूत बनाने के लिए ऐसा करना जरूरी होता है। आफताब पूनावाला ने अदालत में अपना बयान दोहराया है। उसे भी सबूत के तौर पर नहीं गिना जाएगा क्योंकि  यह  रिमांड लेने की सुनवाई थी इसे वास्तविक सुनवाई नहीं कहा जा सकता। यह कोर्ट में आफताब की दूसरी वर्चुअल पेशी थी। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आफताब ने कोर्ट में मर्डर की बात कबूल ली जिसमे उसने  कहा कि उसने उकसावे और गुस्से में श्रद्धा का मर्डर किया। उसने यह भी कहा कि वह पुलिस को सब कुछ बता चुका है अब घटना याद करने में मुश्किल आ रही है। 

aftaf

आफताब पूनावाला ने पुलिस को बताया कि उसने 18 मई को श्रद्धा वॉकर की हत्या की थी

उधर पुलिस सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि मंगलवार शाम   रोहिणी FSL में आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट शुरू हो गया। इसके अलावा साकेत कोर्ट ने आफताब को परिवार से मिलने की भी इजाजत दे दी। इस केस में पुलिस के पास कोई प्राथमिक गवाह  नहीं है। इस समय पुलिस के पास 6 महीने पहले की गई हत्या की परिस्थितिजन्य सबूत ही है। पुलिस इसे पुख्ता मामला बनाने के लिए फॉरेंसिक साइंस के भरोसे हैं जहां हर कदम की स्वतंत्र रूप से पुष्टि की जानी है। आफताब पूनावाला ने पुलिस को बताया कि उसने 18 मई को श्रद्धा वॉकर की हत्या की थी लेकिन लाश के सभी टुकड़े नहीं मिले हैं खासकर श्रद्धा का सिर  जिससे पुलिस यह साबित कर सकेगी। 18 मई के बाद तथा जीवित नहीं थी पुलिस ने ऐसे में श्रद्धा की करीबी रिश्तेदारों और दोस्तों से भी संपर्क किया है ताकि यह पता चल सके कि क्या श्रद्धा ने 18 मई के बाद उनसे संपर्क किया था। वहीं, आफताब पूनावाला के बताए गए जगहों पर पुलिस ने जो हड्डियां और इंसानी जबड़ा बरामद किया है, वो श्रद्धा का है या नहीं, इसके लिए उसके पिता और भाई के साथ डीएनए मैच कराया जा रहा है, जिसकी रिपोर्ट केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (CFSL) से एक हफ्ते के अंदर आने की उम्मीद है. सबसे अहम चीज है मर्डर वेपन।