Movie prime
छोटी सी दुकान से हाथ से बनाकर भुजिया बेचने वाले ऐसे खड़ी की बीकानेरी भुजिया की 1600 करोड़ की कम्पनी
 

बीकानेरी भुजिया 'बीकाजी 'आज दुनिया का  सबसे जाना माना नाम है। गुरुवार से बीकाजी  का  IPO  आ रहा है। बीकाजी भुजिया 1600 करोड़ की कंपनी बन गई है इस कंपनी का एड अमिताभ बच्चन को करते हुए आप लोगों ने देखा होगा बीकानेर में भुजिया बनने का इतिहास 150 साल  पुराना है इसे ब्रांड बनाया 'हल्दीराम अग्रवाल'। ने एक छोटी सी दुकान पर लगी भट्टी  पर हल्दीराम अपने हाथों से भुजिया तैयार करते फिर खोमचों  में भरकर दुकान के बाहर सजाते।  धीरे-धीरे बीकानेर भुजिया का स्वाद देश भर में फेमस होने लगा। हल्दीराम बाद में बिजनेस बढ़ाने के लिए कोलकाता चले गए और फिर वही बस गए।  लेकिन हल्दीराम भुजियावाला नाम से शुरू हुई इस दुकान पर उनके बेटे मूलचंद अग्रवाल ने कारोबार संभाला। 

bikaji


बीकानेर के संस्थापक राव बिका के नाम से मशहूर भुजिया का नाम बीकाजी  रखा गया 

 बाद में मूलचंद अग्रवाल के चारों बेटे ने बीकानेरी भुजिया को देश और दुनिया तक पहुंचा दिया। उनके तीन बेटे शिव अग्रवाल। मनोहर लाल और मधु अग्रवाल ने हल्दीराम नाम से भुजिया का ब्रांड स्थापित किया। लेकिन चौथे बेटे शिवरतन अग्रवाल ने बीकानेर से ही अलग भुजिया कंपनी बीकाजी की स्थापना की। शिवरतन अग्रवाल ने 1986 में अपनी कंपनी को नाम दिया। शिवदीप फूड इंडस्ट्री लिमिटेड अग्रवाल अपने ब्रांड का नाम ऐसा रखना चाहते थे जो बीकानेर से जुड़ा है और पूरी दुनिया में भुजिया की शौकीन भी इस ब्रांड से आसानी से जुड़ जाए। ऐसे में बीकानेर के संस्थापक राव बिका के नाम से मशहूर भुजिया का नाम बीकाजी  रखा गया बाकि आपको  बताने की जरूरत नहीं थी कि यह भुजिया असली बीकानेरी है।  क्योंकि बीकानेर नहीं भुजिया का आविष्कार किया था। 

bikajui


'बीकाजी ' के प्रोडक्ट देश भर में 800000 से ज्यादा दुकानों पर उपलब्ध है 

इसी नाम से उन्होंने बीकानेर में पहली भुजिया फैक्ट्री डाली साल 1993 में मार्केट में उतरे बीकाजी भुजिया ने दमदार स्वाद के चलते घर-घर तक अपनी पहुंच बनाई।  आज बीकाजी कंपनी नमकीन के 250 से ज्यादा प्रोडक्ट बनाती है जिसमें वेस्टर्न स्नेक्स और फ्रोजन सहित कई वैरायटी है 'बीकाजी ' के प्रोडक्ट देश भर में 800000 से ज्यादा दुकानों पर उपलब्ध है बीकाजी फूड्स की सबसे बड़ी फैक्ट्री बीकानेर के बीछवाल इंडस्ट्रियल एरिया में है करीब 2000 लोग काम करते हैं यहां दुनिया की लेटेस्ट मशीनों के साथ भुजिया  तैयार होती है। भुजिया की मेकिंग से लेकर पैकिंग तक की पूरी प्रोसेस मशीन से होती है। कारीगर हाथ से टच तक नहीं करते, क्योंकि इंटरनेशनल प्रोडक्ट होने की वजह से इसके पैरामीटर का पालन कया जाता है। बीकाजी ने पिछले कुछ सालों में अपने प्रॉडक्ट्स की संख्या में बढ़ोतरी की है। बीकाजी आउटलेट्स ग्राहक को दो-पांच तरह के नहीं बल्कि 24 तरह के भुजिया पेश करते हैं। इसके 'ठेठ बीकानेर' नाम की भुजिया भी शामिल है। बीकानेरी भुजिया, तीन नंबर भुजिया, डंकोळी, खोखा भुजिया शामिल है