Movie prime
छोटी सी किराने की दुकान से खड़ा किया हजार करोड़ का बिजनेस ,यहां जाने पंसारी ग्रुप की सक्सेस स्टोरी
 

बिजनेस में कामयाबी के लिए रिस्क लेना पड़ता है और मेहनत करनी पड़ती है आप भले ही शुरुआती छोटी सी दुकान से करें लेकिन आप का प्लान लंबा होना चाहिए इसकी एक मिसाल ' पंसारी ग्रुप 'की शुरुआत राजस्थान में एक छोटी सी किराना दुकान से हुई थी मगर आज एफएमसीजी सेगमेंट में एक बहुत बड़ा नाम बन गया और इस ग्रुप का टर्नओवर हजार करोड़ से ज्यादा का है 1940 के दशक में राजस्थान के पावटा में किराने की दुकान की पंसारी ग्रुप की शुरुआत हुई थी जिसमें पंसारी इंडस्ट्रीज की मौजूदा डायरेक्टर शम्मी  अग्रवाल के दादा ने शुरू किया था । 

pansari

पंसारी की दुकान के नाम वाली उस किराना शॉप के बाद शम्मी  के दादाजी कोलकाता चले गए फिर वहां उन्होंने सरसों तेल का थोक कारोबार किया पर 80 के दशक के पहले सालों में ही बिजनेस नाम कामयाब हो गया दरअसल उस साल भारी वर्षा हुई जिससे फसलों को काफी नुकसान हुआ इससे अग्रवाल परिवार ने बीजों का कारोबार छोड़कर खाद्य तेल का कारोबार का रुख किया शम्मी  के दादाजी के पिता ने दिल्ली आकर किराए पर एक फैक्ट्री ले उसमें खाद्य तेल की मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने के बाद 90 के दशक में ट्रेडिंग से मैन्युफैक्चरिंग की शुरुआत की 2005 तक इस कंपनी ने उत्तर भारत में 7 यूनिट लगा ली थी फिर साल 2010 में जाकर शम्मी ने पंसारी ग्रुप को ज्वाइन किया और उसे एक ब्रांड में कन्वर्ट करने का सोचा शम्मी के आने के बाद पंसारी ग्रुप में पंसारी ब्रांडेड सरसों तेल मार्केट में उतारा और यहीं से उस ग्रुप की किस्मत बदल गई। 

pansari

शम्मी  ने पूरे ग्रुप का रुख बिजनेस टू बिजनेस से बिजनेस टू  कंजूमर की तरफ मोड़ दिया इसे 2010-11 में ग्रुप में 180 करोड़ रुपए की इनकम हासिल की मगर यह लिमिट नहीं थी बल्कि शम्मी फार्च्यून जैसे ब्रांड की लिस्ट में शामिल होना चाहते थे शमी को कारोबार में काफी नुकसान हुआ कई लोगों ने माल लेकर पैसा नहीं दिया मगर उनके पिता ने नुकसान की परवाह ना करने को कहा पिता के साथ ताऊ जी का भी सपोर्ट मिला एक खास काम सम्मी ने  किया कि वे केवल ब्रांडेड सरसों तेल पर ही फोकस करते रहे और इसी से उन्हें सफलता मिली सिर्फ 2016 से पंसारी ब्रांड नाम के तहत और भी प्रोडक्ट पेश किए गए कंपनी रिफाइंड वेजिटेबल ,ऑयल ,चावल ,आटा ,मसाला, अनाज ,इंस्टेंट इंडियन मिक्स आदि उत्पाद पेश करने में कामयाब रही अभी स्थिति यह है कि 57 से ज्यादा देशों में यह इसके प्रोडक्ट एक्सपोर्ट किए जा रहे हैं। 

pansa

 एफएमसीजी के बाद पंसारी  ग्रुप में समय के साथ रियल एस्टेट सागवान प्लांटेशन और एनर्जी जैसे क्षेत्रों में प्रवेश किया एक  स्टोरी की एक रिपोर्ट के अनुसार रियल एस्टेट में पंसारी ग्रुप पूर्ति ग्रुप के नाम से कारोबार करता है। शम्मी ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी से मार्केटिंग व फाइनेंस में एमबीए, दिल्ली यूनिवर्सिटी से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स और कई शॉर्ट कोर्सेज कर चुके हैं। अब वे जल्द ही हेल्थ सेगमेंट में भी एंट्री करने जा रहे हैं।