Movie prime
इस बार अक्षय तृतीया के दिन बन रहा है ये शानदार शुभ संयोग ,बनेंगे इतने राजयोग
 

वैशाख मास की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि अक्षय तृतीया के नाम से प्रसिद्ध है इसे आखातीज भी कहते हैं इस साल यह है तिथि 3 मई के दिन मंगलवार को मनाई जा रही है इस दिन  अबूझ सावे भी होते हैं इस दिन अगर आप कोई भी काम बिना मुहूर्त के करते हैं तो वह सिद्ध होता है इस साल अक्षय तृतीया मंगल रोहिणी नक्षत्र के शोभन योग में है जो  तैतिल  और वृष राशि के चंद्रमा के साथ आ रही है इस अवसर पर मंगलवार दिन और रोहिणी नक्षत्र के कारण मंगल रोहिणी योग बन रहा है इस दिन शोभन योग अक्षय तृतीया को  शुभ  बना रहा है। 

ui

वही 50 साल बाद इन ग्रहो का  विशेष योग से अद्भुत संयोग भी बन रहा है आज हम आपको बताते हैं कि अक्षय तृतीया पर बनने वाले रोज राजयोग और इससे जुड़े क्या महत्व है अक्षय तृतीया के दिन शुभ ग्रह अपनी उच्च राशि में होने से माल में राज योग ,गुरु के मीन राशि में होने से हंसराज योग और शनि के अपने घर में विद्यमान होने से शशि राज योग बन रहा है इस दिन सूर्य और चंद्रमा अपनी उच्च राशि में रहेंगे करीब 50 साल बाद ऐसा योग बना है यह दो ग्रह उच्च राशि में और दो प्रमुख ग्रह से राशि में स्थित रहेंगे अक्षय तृतीया पर इन ग्रहों के योग से बने अद्भुत संयोग में दान करना काफी लाभदाई होगा। 

io

इस दिन चार ग्रहो का अनुकूल स्थिति में होना अक्षय तृतीया को और भी विशेष बनाता है इस दिन कोई भी शुभ काम करना उत्तम फल प्रदान करने वाला होगा इस दिन शुभ काम के लिए मुहूर्त देखने की जरूरत नहीं है अक्षय तृतीया के दिन प्रसिद्ध तीर्थ स्थल बद्रीनारायण के कपाट खुलते हैं और वहां पूजा-अर्चना शुरू होती है अक्षय तृतीया के दिन ही वृंदावन के श्री बांके बिहारी मंदिर के विग्रह  चरणों के दर्शन कर सकते हैं साल भर में केवल एक ही दिन होता है जिस दिन आप विग्रह  के दर्शन कर सकते हैं अक्षय तृतीया के दिन परशुराम जयंती भी मनाई जाती है इस दिन विवाह , सगाई करने के अलावा भवन ,वाहन ,वस्त्र, आभूषण आदि की खरीदारी भी करना चाहिए इस दिन दान करने  से सुख संपत्ति में वृद्धि होती है और पुण्य लाभ होता है।