Movie prime
मलेरिया कर देगा एके लाइव और फेफड़ो को पूरी तरह से खराब ,इससे पहले ऐसे के बचाव
 

मलेरिया मच्छर से पैदा होने वाली काफी जानलेवा बीमारी है जो फीमेल एनोफिलीस मच्छर के काटने से फैलती है यह मच्छर डंक मारते समय हमारे खून में अपना  पैरासाइट छोड़ देता है और पैरासाइट दाखिल होते ही वह लीवर की तरफ बढ़ जाता है जो मेच्योर  होने के बाद पैरासाइट खून में प्रवेश करता है और लाल रक्त कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाता हैइसके  लिए लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 25 अप्रैल को वर्ल्ड डे मनाया जाता है आज हम आपको इस बीमारी के लक्षण इलाज और तरीके बताते हैं। 

yu

मलेरिया होने पर मरीज को अक्सर ठंड लगती है और तेज बुखार चढ़ता है बहुत अधिक पसीना आता है इसके अलावा सिरदर्द जी ,मिचलाना ,उल्टी ,पेट दर्द ,डायरिया, एनीमिया और मांसपेशियों में दर्द की शिकायत भी हो सकती है मलेरिया के कुछ मरीजों के शरीर में ऐंठन , कोमा ,मल में खून आने की समस्या भी देखी जाती   मलेरिया के इंफेक्शन में अगर समय रहते इलाज न कराया जाए तो इसके घातक परिणाम हो सकते हैं। 

yu

 इससे दिमाग की रक्त वाहिकाओं में सूजन बढ़ जाती है फेफड़ों में फ्लूड  जमा होने की वजह से सांस लेने में दिक्कत हो सकती है मेडिकल भाषा में इसे पलमोनरी एडिमा कहा जाता है इसके अलावा लीवर किडनी और तिल्ली  जैसे प्रमुख अंग भी फेल हो सकते हैं मलेरिया से बचने के लिए मच्छरों को घर के अंदर या बाहर मछरो को न पनपने दे   ठहरे हुए पानी में मच्छर पैदा ना होने दें इसके लिए बारिश शुरू होने से पहले ही घर के पास की नालियां और सफाई की सड़कों को गड्ढा आदि  को  भरवा ले।